Chitrakoot Mandal: तिरंगे के नाम पर बच्चों से जमा कराए 12.89 लाख, 3 साल बाद भी खाते में नहीं पहुंचे

0
59

Chitrakoot Mandal: तिरंगे के नाम पर बच्चों से जमा कराए 12.89 लाख, 3 साल बाद भी खाते में नहीं पहुंचे

बांदा: हर साल शिक्षक दिवस पर बच्चों से सांकेतिक झंडे (तिरंगा) के रूप में 2-2 रुपये जमा कराए जाते हैं। चित्रकूट मंडल के चारों जिलों में पिछले 3 वर्षों में एकत्र की गई 12.89 लाख रुपये संबंधित फंड के खाते में जमा नहीं की गई। यह मामला प्रकाश में आने के बाद शिक्षा निदेशक ने कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए एकत्र की गई धनराशि एक सप्ताह के अंदर संबंधित खाते में जमा कराने को कहा है। इससे विभाग में हड़कंप मच गया है।

बच्चों से दो दो रुपये जमा कराते हैं
शिक्षक दिवस में शासन विद्यालयों को झंडा वितरण करता है। इसमें हर विद्यालय में शिक्षक छात्र-छात्राओं को झंडे वितरित कर उनसे दो दो रुपये जमा करा लेते हैं। बाद में जमा कराई गई धनराशि नेशनल फाउंडेशन फॉर टीचर वेलफेयर फंड के चालू खाते में जमा करा दी जाती है। चित्रकूट मंडल के बांदा, हमीरपुर, चित्रकूट और महोबा में वर्ष 2019, 2020 और 2021 में प्रति सांकेतिक झंडे के हिसाब से 2-2 रुपये शिक्षकों ने जमा कराए थे। चारों जिलों में करीब 12.89 लाख रुपये जमा हुए थे, लेकिन यह धनराशि नेशनल फाउंडेशन फॉर टीचर्स वेलफेयर फंड के खाते में नहीं जमाई कराई गई, जबकि इस धनराशि को अब तक जमा हो जाना चाहिए था।

शिक्षा निदेशक ने लिया ऐक्शन
जब इस बात की जानकारी शिक्षा निदेशक के पास तक पहुंची तो उन्होंने इस पर नाराजगी जाहिर करते हुए धनराशि जमा न करने पर कड़ी चेतावनी दी है। शिक्षा निदेशक डॉ. सरिता तिवारी ने बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों को पत्र जारी करके निर्देशित किया है कि एक सप्ताह में यह धनराशि जमा कराई जाए और निर्धारित प्रारूप में इसकी जानकारी भी भेजी जाए।

पिछले वर्ष भी दिया गया था अल्टीमेटम
बताया जा रहा है कि इस संबंध में शिक्षा निदेशक कार्यालय से लगातार पत्राचार किया जा रहा था। इसके बावजूद भी बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने इस पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं की और न ही धनराशि जमा कराई। पिछले वर्ष भी 15 जुलाई 2021 को विभाग ने पत्र जारी कर मंडल की अवशेष धनराशि जमा करने को कहा गया था, लेकिन तब भी बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने किसी तरह का ऐक्शन नहीं लिया, जिससे शिक्षा निदेशक ने कड़ा रुख अख्तियार करते हुए धनराशि जमा न करने पर कार्रवाई की चेतावनी दे डाली है।

Copy

जल्द जमा होगी धनराशि
इसी सप्ताह जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के रूप में कार्यभार ग्रहण करने वाली प्रिंसी मौर्या ने बताया कि उनके संज्ञान में यह मामला आया है। इस बारे में जल्दी ही बैठक की जाएगी और उक्त राशि को जल्द से जल्द फंड में जमा कराने की कोशिश की जाएगी। फिलहाल इसका पता लगाया जा रहा है कि किन कारणों से जमा कराई गई धनराशि संबंधित फंड में क्यों नहीं जमा की गई।
इनपुट- अनिल सिंह

उत्तर प्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Uttar Pradesh News