चीन ने बनाया समुद्र पर दुनिया का सबसे बड़ा और अदभुत पुल

0

नई दिल्ली: जो अब तक किसी देश ने नहीं किया वो आखिरकार चीन ने कर दिखाया. जी हां, अब तक अपने नदियों पर बने तमाम बड़े पुलों पर यात्रा की होगी लेकिन चीन पहला ऐसा देश है जिन्होंने समुद्र पर दुनिया का सबसे बड़ा पुल बनाया है.

इस पुल का नाम ‘सी ब्रिज’ है

आज चीन में विश्व का सबसे लंबा ‘सी ब्रिज’ यातायात के लिए खोला गया है. इसकी लंबाई 34 मील यानी 55 किमी है और यह हांगकांग और मकाऊ को जोड़ेगा. इस ब्रिज को बनाने में काफी मेहनत तक लगी है. इसको लेकर चीन के इंजीनियर्स की देश विदेश समेत सभी जगहों पर काफी तारीफ तक हो रहीं है. क्योंकि चीन एक ऐसा देश है जिस ने समुद्र पर पुल बनाकर एक नया उदाहरण पेश किया है. इस ब्रिज को बनाने में छह साल तक प्लानिंग भी की गई. इसको बनाने में 8 साल तक का समय लगा. इसे बनाने के समय एक अंडरग्राउंड सुरंग भी खोदी गई ताकि समुद्री जहाज के रूट में कोई परेशानी न हो.

625 मीटर क्षेत्रफल वाला एक नकली द्वीप भी समुद्र के बीज बनाया गया

ये ही नहीं 625 मीटर क्षेत्रफल वाला एक नकली द्वीप भी समुद्र के बीज बनाया गया ताकी आसानी से पुल बन सकें. इस पुल के बनने से चीन के ग्रेटर बे इलाके में व्यापार में बढ़ावा देखा जा सकता है. चीन का मानना है कि यह जगह एक बड़ा इकॉनमिक हब बन सकता है. इस ब्रिज के द्वारा शहरों के बीज यात्रा में कम समय तक लगेगा. इससे चीन से सामान को हांगकांग एयरपोर्ट ले जाना आसान होगा.

इस ब्रिज को बनाने में 20 अरब डॉलर की लागत लगी है

चीन का यह ‘सी ब्रिज’ भारत के सबसे बड़े सी ब्रिज बांद्रा वर्ली सी लिंक ब्रिज से करीब 10 गुना बड़ा है.  इस ब्रिज को बनाने में 20 अरब डॉलर की लागत लगी है. इस ब्रिज का उद्घाटन राष्ट्रपति शी जिनपिंग किया है. इस उद्घाटन समरोह में हांगकांग और मकाऊ के नेताओं समेत करीब 700 मेहमान शामिल हुए है. इस पुल को सामान्य यातायात के लिहाज से बुधवार को खोला जाएगा.