छत्तीसगढ़: दूसरे चरण में वोटिंग के साथ खत्म होगा चुनावी घमासान, जनता तय करेगी नेताओं की किस्मत

0

नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ में 12 नवंबर को पहले चरण में मतदान की प्रक्रिया शुरू हुई थी. आज यानी 20 नवंबर को दूसरे चरण के लिए चुनावी मैदान में जंग खेली जाएगी. इस मतदान के बाद ही पता चलेगा कि छत्तीसगढ़ में सरकार कौन सी पार्टी के हाथ ले जा रहीं जाएगी.

दूसरे चरण में राज्य की 72 सीटों पर कई बड़े नेताओं की साख दांव पर लगी हुई है 

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ के चुनावी मैदान में दूसरे चरण में राज्य की 72 सीटों पर कई बड़े नेताओं की साख दांव पर लगी हुई है. इस दौरान करीब 1079 उम्मीदवार राजनीती मैदान में खड़े है. राज्य में दो चरणों में हुए चुनावों में इन तमाम नेताओं के भाग्य का अंतिम फैसला आज होना है. जनता आखिरकार तय करेगी की कौन इस बार सत्ता पर काबिज होगा. 72 सीटों पर होने वाला यह मुकाबला काफी दिलचस्प साबित होगा. वहीं पहले चरण में 18 सीटों में अधिकतर सीटें कांग्रेस के खेमे में गई थी.

किन नेताओं की साख है दांव पर

दूसरे चरण में राज्य के इन नौ नेताओं की साख दांव पर है. जिनमें से रायपुर दक्षिण से बृजमोहन अग्रवाल, बिलासपुर से अमर अग्रवाल, प्रतापपुर से रामसेवक पैकरा, रायपुर पश्चिम से राजेश मूणत, बैकुंठपुर से भैय्यालाल राजवाड़े, मुंगेली से पुन्नूलाल मोहले, भिलाई नगर से प्रेमप्रकाश पाण्डेय, नवागढ़ से दयालदास बघेल और कुरूद से अजय चंद्राकर चुनावी दंगल में उतरे है.

दूसरी तरफ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक बिल्हा से, उपाध्यक्ष नारायण चंदेल जांजगीर-चांपा और विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल कसडोल चुनावी मैदान में खड़े हुए है. वहीं पाटन से प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल, दुर्ग ग्रामीण से कांग्रेस सांसद ताम्रध्वज साहू, अंबिकापुर से विपक्ष के नेता टीएस सिंहदेव और सक्ती से पूर्व केन्द्रीय मंत्री चरणदास महंत भी उतरे है. जहां दोनों ही बड़ी पार्टियां अपनी जीत का डंका ठोक चुकी है वहीं राजनीतिक विशेषज्ञ इसे कांटे की टक्कर के आधार पर देख रहें है.