लालू पर सीबीआई का कड़ा एक्शन ।

0
लालू पर सीबीआई का कड़ा एक्शन ।

राष्ट्रीय जनता दल चीफ लालू प्रसाद यादव के खिलाफ होटल घोटाला मामले में केस दर्ज होने और शुक्रवार को सीबीआई की छापेमारी के बाद बिहार की राजनीति में सरगर्मियां काफी बढ़ गई हैं। छापे की खबर मिलने के बाद राज्य के सीएम नीतीश कुमार ने नालंदा के राजगीर में अफसरों की इमर्जेंसी मीटिंग बुलाई। सीएम ने चीफ सेक्रटरी अंजनी कुमार सिंह, प्रिंसिपल सेक्रटरी होम आमिर सुब्हानी और राज्य के डीजीपी पीके ठाकुर के साथ बैठक की। बिहार पुलिस हेडक्वॉटर्स की ओर से पूरे राज्य में किसी तरह के विरोध-प्रदर्शन या हिंसा की आशंका के मद्देनजर तैयार रहने को कहा गया है।

लालू ने कहा ‘मिट्टी में मिल जाएंगे, झुकेंगे नहीं’
इस बीच लालू यादव ने सीबीआई की कार्रवाई को लेकर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि वह किसी हाल में झुकने वाले नहीं है। उन्होंने कहा कि 2006 में उनके रेल मंत्री रहते हुए सब कुछ नियमों के तहत किया गया था। टेंडर की प्रक्रिया में कोई गड़बड़ी नहीं की गई थी। उन्होंने कहा, ‘हम मिट्टी में मिल जाएंगे लेकिन बीजेपी और मोदी सरकार को हटाकर ही दम लेंगे।’ उधर केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि इन छापों से बीजेपी का कोई संबंध नहीं है।

सीबीआई के अडिशनल डायरेक्टर राकेश अस्थाना ने बताया कि लालू के रेल मंत्री रहने के दौरान रेलवे को दो होटलों के रखरखाव के लिए एक प्राइवेट कंपनी को टेंडर दिया गया और इसके एवज में लालू को तीन एकड़ जमीन दी गई। ये टेंडर साल 2004 से 2009 के बीच इंडियन रेलवे कैटरिंग ऐंड टूरिजम कॉर्पोरेशन (IRCTC) के जरिए दिए गए थे, जब लालू रेल मंत्री थे। अस्थाना ने कहा कि 2004 से 2014 के बीच रची गई इस कथित साजिश के लिए लालू और अन्य आरोपियों के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ करप्शन ऐक्ट, 1988 के तहत केस दर्ज किया गया है।

सीबीआई की कार्रवाई के बाद लालू पर राजनीतिक हमले तेज हो गए हैं। बीजेपी ने मांग की है कि सीएम नीतीश को डेप्युटी सीएम को बर्खास्त कर देना चाहिए। सीबीआई की ताजा कार्रवाई से कुछ दिन पहले ही इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने दिल्ली और आसपास के इलाकों में लालू की बेटी मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार से जुड़े भ्रष्टाचार के आरोपों में छापे मारे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 − 3 =