जम्मू पर हमला करने वाली लड़की का केस निकला झूठा, एक मैसेज से हुई गलतफहमी

0

26 जनवरी के खास मौके पर हमारे देश को आतंकी हमलें होने का डर हमेशा सताता रहता है. तो इस बार भी खौफ था सादिया अनवर शेख नाम की एक लड़की का ,जो पुणे की है. खबर थी कि ये 18 साल की लड़की गणतंत्र दिवस के इस ख़ास मौके पर कश्मीर में तबाही जैसे हालात पैदा करने वाली थी. हमारी पुलिस फोर्स ने सादिया की इस चाल को नाकाम कर दिया. पुलिस ने सादिया को वक़्त रहते गिरफ्तार कर लिया था.

गणतंत्र दिवस से एक दिन पहले एक ख़ुफ़िया इनपुट के आधार पर जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सादिया अनवर शेख नाम की लड़की को गिरफ्तार किया था. बता दें कि वो पुणे से जम्मू-कश्मीर आई थी और बिजबेहरा में एक पेईंग गेस्ट के तौर पर रह रही थी. उसका इरादा आईएसआईएस में शामिल होने का था. पुलिस को जानकारी मिली थी कि ये लड़की गणतंत्र दिवस के मौके पर घाटी में आत्मघाती हमला करने की फिराक में है. दरसल सादिया ने २० जनवरी की रात एक लड़के को अपने फोन से मैसेज किया था की वह जम्मू घाटी पर आत्मघाती हमले जैसा कुछ करने जा रही है. इस मेसेज की सूचना तुरंत इंटेलिजेंस नेटवर्क द्वारा सभी विभागों में पहुँच गयी. सूचना मिलते ही लड़की को गिरफ्तार किया गया .

आत्मघाती हमलावर लड़की की गिरफ्तारी से खलबली मच गई थी. हालांकि, पुलिस को हादिया से पूछताछ के दौरान एहसास हुआ कि लड़की किसी भी आतंकवादी संगठन से संपर्क में नहीं है, और न ही उस पर किसी प्रकार का मामला दर्ज है. पूछताछ के बाद ये भी पता चला कि लड़की का कट्टरपंथियों की तरफ ज्यादा झुकाव है. उसकी प्रवृत्ति कट्टरपंथियों की तरह जरूर है लेकिन उसने कोई अपराध नहीं किया है. जिसे खत्म करने के लिए उसे परामर्श देने और समझाने की आवश्यकता है. साथ ही हादिया के खिलाफ महाराष्ट्र  में भी आतंकी संगठन से जुड़ने का कोई मामला दर्ज नहीं है.

 

हादिया का कश्मीर आने का मुख्य कारण

जब हादिया की माँ से पूछा गया कि उनकी बेटी जम्मू-कश्मीर क्यों गई थी, तो उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि उनकी बेटी निर्दोष है और किसी ने उसके नाम का गलत इस्तेमाल किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × four =