आने वाले 10 सालों में दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला शहर होगा दिल्ली

0

भारत दुनिया का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला राष्ट्र है ,जहाँ कुल 121 करोड़ लोग निवास करते है lदेश के 29 राज्यों और 7 केंद्र प्रशासित प्रदेशों के ना जाने कितने ही शहरों , नगरों ,गाँवों ,कस्बों ,कुचों और गलियों में कितनी ही ज़िंदगियाँ रहती है l हमारे देश में एक और जहाँ महानगरों में रहने वाले लोगो की जिंदगी एक पल के लिए भी रूकती नहीं ,हर दिन ,हल पल बस मंजिलों के रेलवे ट्रैक्स पर सरपट भागती रहती है ,वहीँ दूसरी तरफ छोटे शहरों की आँखों में बडे शहरों के कई ख्वाब पलते है l लेकिन वहीँ ,गाँवों और कस्बों में रहने वालों की जिंदगी अभी भी कही ठहरी हुई सी है l

दिल्ली बनेगा दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाला महानगर
जिस रफ़्तार से देश की जनसंख्या बढ़ रही है ,उसके हिसाब से तो आने वाले वक़्त में हम बहुत ही जल्द दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश बन जायेंगे l देश की बात छोड़ते है ,बात करते है देश की राजधानी दिल्ली की, जी हाँ, भारत की राजधानी दिल्ली आने वाले 10 सालों में दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला शहर होने का गौरव प्राप्त कर लेगी l ऐसा हम नहीं कह रहें है ,ऐसा तो संयुक्त राष्ट्र द्वारा किये गए एक सर्वेक्षण की रिपोर्ट बता रही है l दरअसल संयुक्त राष्ट्र के नये अनुमानों के मुताबिक 2028 के आसपास दिल्ली के दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला शहर बनने की संभावना हैl संयुक्त राष्ट्र के जारी किये गए नए अनुमानों के अनुसार 2050 तक दुनिया की शहरी आबादी में भारत का योगदान सबसे अधिक होने के आसार हैंl

शहरों में बस्ती है दुनिया की 55 प्रतिशत आबादी
आपको बता दें की संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक मामलों के विभाग (यूएन डीईएसए) के जनसंख्या प्रभाग द्वारा पेश विश्व शहरीकरण संभावनाओं के पुनरावलोकन 2018 की रिपोर्ट को आज जारी किया गयाl जिसमे कहा गया है कि 2050 तक दुनिया की 68 प्रतिशत जनसंख्या के शहरी क्षेत्रों में रहने का अनुमान हैl बता दें कि इस समय दुनिया की कुल आबादी का 55 प्रतिशत आबादी शहरी क्षेत्रों में रहती हैl

 

आने वाले 10 सालों  में टोक्यो को पछाड़ देगी दिल्ली
रिपोर्ट के अनुसार 2028 में यानी कि आज से 10 साल बाद दिल्ली का दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला शहर बनने के आसार है l रिपोर्ट में बताया गया है कि 2028 में नई दिल्ली की अनुमानित आबादी का आकार लगभग 3.72 करोड़ है, जो जापान की राजधानी टोक्यो से 3.68 करोड़ से अधिक है l गौरतलब है कि ,टोक्यो इस समय तीन करोड़ 70 लाख निवासियों के समूह के साथ दुनिया का सबसे बड़ा शहर हैl इसके बाद राजधानी नई दिल्ली दो करोड़ 90 लाख, दो करोड़ 60 लाख के साथ शंघाई और मेक्सिको सिटी और साओ पाउलो, प्रत्येक दो करोड़ 20 लाख निवासी हैl वहीँ सपनों का शहर कहा जाने वाले मुंबई में लगभग 2 करोड़ लोग रहते है l

 

चीन, भारत और नाइजिरिया सबसे अधिक शहरी आबादी वाले देश
रिपोर्ट में दर्शाए गए आंकड़ो के अनुसार , भविष्य में दुनिया की शहरी जनसंख्या का आकार बढ़ने की उम्मीद हैl भारत, चीन और नाइजीरिया 2018 और 2050 के बीच दुनिया की शहरी आबादी के अनुमानित विकास का 35 प्रतिशत हिस्सा होंगेl 2050 तक, यह अनुमान लगाया गया है कि भारत 41 करोड़ 60 लाख शहरी निवासियों, चीन 25 करोड़ 50 लाख और नाइजीरिया 18 करोड़ 90 लाख शहरी निवासियों को जोड़ेगा l

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 + fourteen =