दिल्ली के दंगों ने भारत के सभी व्यवसाय को प्रभावित किया

DELHI PROTEST
DELHI PROTEST

दिल्ली हिंसा में जहां कई मासूम लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी वही व्यवसाय भी इससे काफी हद तक प्रभावित हुआ, दिल्ली हिंसा में दुकानदारों की दुकाने जल गई। इस हिंसा में कई बड़ी दुकानें, गाड़ियों के शोरूम और पेट्रोल पंप तक जलाकर खाक कर दिए गए, जिसके कारण दुकानदार को लाखों का नुकशान हुआ है। रोड जाम होने के कारण सार्वजनिक परिवाहन का आना -जाना बंद होगया और इसका नकरात्नक प्रभाव ऑटो और बस चालक के किरये पर भी पड़ रहा है। दिल्ली में हिंसा का इतना विकराल रूप देखने को मिला की भय से लोग घर के अन्दर से नहीं निकल रहे , जिसके कारण ऑफिस जाने वाले कर्मचारी आपने ऑफिस नहीं जा रहे जिससे उनके काम प्रभावित हो रहा है। दिल्ली हिंसा के कारण इम्पोर्ट और एक्सपोर्ट पर भी काफी प्रभाव पडा है।

business-affected-by-delhi-riots

दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके में हिंसा की वजह से ट्रांसपोर्ट कारोबार को भारी नुकसान हो रहा है। दिल्ली में दंगों के चलते ट्रांसपोर्ट व्यवसाय को बहुत नुकसान झेलना पड़ रहा है, जहां रोजाना चालीस हजार ट्रक माल दिल्ली में आता और जाता था इन दंगों के चलते वह संख्या घट कर दस से पंद्रह हजार ही रह गई है। हिंसा प्रभावित ज्यादातर इलाकों में तो छोटी व बड़ी सभी मार्केट बंद हैं। साथ ही इन इलाकों में होलसेल मार्केट का धंधा भी मंदा हो गया है। उत्तर-पूर्वी दिल्ली की हिंसा से न केवल यमुनापार, बल्कि सदर बाजार और चांदनी चौक समेत पुरानी दिल्ली के सभी बाजारों की रौनक पर असर पड़ा है।

दिल्ली हिंसा से गारमेंट के लिए मशहूर गांधी नगर, कृष्णा नगर का लाल क्वॉर्टर बाजार, जाफराबाद का जैकेट बाजार, मेहरा कॉलोनी स्थित फर्नीचर बाजार और गोकलपुरी का टायर बाजार समेत सभी स्थानीय बाजारों का व्यापार चौपट हो गया है।

यह भी पढ़ें :ओलंपिक खेलों में आखिर कितने खेल होते है,आइये जाने

दिल्ली में प्रदर्शन की आग से सिर्फ दिल्ली तक ही नहीं देश के अलग -अलग हिस्सों तक पहुंची और भारत की व्यवसाय के साथ अर्थवस्था को हिला कर रख दिया।

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.