BSNL कर्मचारियों की परेशानी बढ़ी, अभी तक सैलरी लटकी

BSNL के कर्मचारियों को नवंबर की सैलरी के लिए अभी और इंतजार करना पड़ सकता है। BSNL की ओर से गुरुवार को अक्‍टूबर महीने की सैलरी प्रदान कर दी गई है। कंपनी हर महीने के आखिरी वर्किंग डे तक अपने कर्मचारियों को सैलरी दे देती है. लेकिन बीते एक साल में कई ऐसे मौके आ चुके हैं जब बीएसएनएल के कर्मचारियों को अपनी मासिक सैलरी के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा है।

फरवरी में कंपनी के कर्मचारियों की सैलरी आने में काफी देरी हुई थी। BSNL ने फेब्रुअरी माह की सैलरी अपने कर्मचारियों को 10 मार्च के बाद दिया। वहीं जून महीने की सैलरी 5 अगस्‍त को दी गई जबकि अगस्‍त की सैलरी आने में 18 दिन का लंबा समय लग गया. इसी तरह बीएसएनएल कर्मचारियों को सितंबर की सैलरी 23 अक्‍टूबर तक मिली. बीएसएनएल को मासिक वेतन के रूप में कुल 850 करोड़ रुपये का भुगतान करना पड़ता है. अभी बीएसएनएल के पास करीब 1.50 लाख से अधिक कर्मचारी हैं।

बीएसएनएलके के अलावा एमटीएनएल के कुल 14,378 कर्मचारियों ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है। वीआरएस के लिए आवेदन करने वालों के अलावा 6,000 कर्मचारी ऐसे हैं जो सेवानिवृत्त हो गए हैं।

यह भी पढ़ें : केंद्र सरकार : 50 से ज़्यादा लोग देश का 17 हज़ार 900 करोड़ लेकर हुए फरार

पिछले महीने मोदी सरकार ने बीएसएनएल और एमटीएनएल के लिए 69,000 करोड़ रुपये के पुनरुद्धार पैकेज की घोषणा की थी। घाटे में चल रही बीएसएनएल और एमटीएनएल के मर्जर के अलावा कर्मचारियों को वीआरएस देना भी शामिल है। खबर यह भी है की सरकार के इस कदम से यानि की दो इंडस्ट्री के मर्जर से एक दो साल में काफी हद तक लाभ होने की संभावना है।