Brahmeshwar Mukhiya: ‘जांच पर भारी पड़ेगी बदले की आग’, ब्रह्मेश्वर मुखिया समर्थकों का नीतीश सरकार को अल्टीमेटम

6
Brahmeshwar Mukhiya: ‘जांच पर भारी पड़ेगी बदले की आग’, ब्रह्मेश्वर मुखिया समर्थकों का नीतीश सरकार को अल्टीमेटम

Brahmeshwar Mukhiya: ‘जांच पर भारी पड़ेगी बदले की आग’, ब्रह्मेश्वर मुखिया समर्थकों का नीतीश सरकार को अल्टीमेटम

पटना:रणवीर सेना के संस्थापक ब्रह्मेश्वर मुखिया की हत्या 1 जून 2012 को आरा में कर दी गई थी। उनकी हत्या उस वक्त की गई थी, जब वे हर दिन की तरह सुबह-सुबह टहलने के लिए निकले थे। अपराधियों ने गोलियों से उन्हें भून दिया था। ब्रह्मेश्वर मुखिया की पुण्यतिथि ( Brahmeshwar Mukhiya Death Anniversary ) को उनके समर्थक शहादत दिवस के रूप में मनाने लगे हैं। इस मौके पर पटना के बापू सभागार में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के संयोजक अमृतांशु ने इस मौके पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि अगर ब्रह्मेश्वर मुखिया हत्याकांड की जांच सरकार इस साल पूरी नहीं करती है तो समर्थक अपने स्तर पर जांच पूरी कर लेंगे और दोषी को दंड दे देंगे।अमृतांशु ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि सीबीआई जैसी एजेंसियों को पोस्टर चिपकाना पड़ता था। 10 लाख रुपये देने की घोषणा करनी पड़ती है। बावजूद इसके उन्हें सफलता नहीं मिलती है। यही कारण है कि आज तक ब्रह्मेश्वर मुखिया हत्याकांड का खुलासा नहीं हो सका। उन्होंने कहा कि अब सीबीआई जैसी जांच एजेंसियों पर से धीरे-धीरे भरोसा उठने लगा है। उन्होंने कहा कि जहां केंद्र की सरकार राज्य में नहीं होती है, वहां सीबीआई जैसी जांच एजेंसियां तेज हो जाती हैं। जहां केंद्र और राज्य सरकार, एक ही है वहां सीबीआई की कार्रवाई रूक जाती है या लटका दिया जाता है।

‘समर्थक अभी भी बदला लेने में समर्थ’

अमृतांशु ने कहा कि बिहार में महागठबंधन की सरकार है। ब्रह्मेश्वर मुखिया की हत्या उस वक्त हुई थी, जब बिहार में एनडीए की सरकार थी। इस वक्त जांच तेजी से हो रही है। चार्ज शीट भी दाखिल किया गया है। उन्होंने कहा कि जैसे ही बिहार में सरकार बदलेगी। बीजेपी सरकार आएगी, फिर मामले को 10 साल के लिए लटका दिया जाएगा। ऐसे में हम लोगों को सीबीआई पर भरोसा नहीं रहा। उन्होंने कहा कि पटना में ब्रह्मेश्वर मुखिया के समर्थकों के जुटान का मकसद यह है कि सरकार से गुहार लगाई जाए और बताया जाए कि उनके समर्थक अभी भी बदला लेने में समर्थ हैं।

‘ब्रह्मेश्वर मुखिया की हत्या सरकार ने ही कराई’

अमृतांशु ने बताया कि हम लोग कानून व्यवस्था के तौर पर इंतजार कर रहे हैं। ब्रह्मेश्वर मुखिया को न्याय मिलेगा। जब उनसे पूछा गया कि क्या लगता है कि ब्रह्मेश्वर मुखिया की हत्या के पीछे किसका हाथ है या साजिश है? इस सवाल पर अमृतांशु कहते हैं कि समर्थकों को लगता है कि ब्रह्मेश्वर मुखिया की हत्या सरकार ने ही कराई है।

(अगर आप राजधानी पटना जिले से जुड़ी ताजा और गुणवत्तापूर्ण खबरें अपने वाट्सऐप पर पढ़ना चाहते हैं तो कृपया यहां क्लिक करें। )

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News