देश की बच्चियों के लिए पुरजोर आवाज़ में सामने आया बॉलीवुड

0

बॉलीवुड के सितारे कठुआ में बच्ची के साथ रेप के खिलाफ एकजुट हो गए हैं. उन्होंने मामले पर सरकार की चुप्पी पर भी हैरानी जताई. प्रियंका चोपड़ा, कमल हासन, करण जौहर और संजय दत्त जैसी लोकप्रिय हस्तियों ने आठ वर्षीया बच्ची के लिए न्याय की मांग की है. यह बच्ची मवेशी चराने गई थी, जिसे अगवा कर लिया गया और इसके ठीक एक हफ्ते बाद 17 जनवरी को बच्ची का शव कठुआ जिले के रसाना गांव के जंगल में मिला. बताया जा रहा है कि बच्ची को मंदिर में बंधक बनाकर रखा गया था और इस दौरान बच्ची को भूखा रखा गया और नशीली दवाइयां खिलाकर उसका कई बार सामूहिक दुष्कर्म किया गया. इसके बाद बच्ची की हत्या कर दी गई. फिल्मी सितारों ने इस ‘भयावह’ अपराध के दोषियों के लिए सख्त सजा की मांग की है.

बॉलीवुड भी सोशल मीडिया के ज़रिये अपने गुस्से का इज़हार कर रहा है. बॉलीवुड का प्रत्येक दिग्गज कलाकार इस मामले को लेकर अपनी राय सोशल मीडिया पर दे रहा है. अकसर सामाजिक मसलों पर मुखर रहने वाली स्वरा भास्कर और हुमा कुरैशी ने इंस्टाग्राम पर प्लेकार्ड के साथ अपनी तस्वीरें डाली हैं, जिसमें वे कठुआ रेप केस पर अपने गुस्से का इजहार कर रही हैं. यही नहीं उन्नाव रेप केस की वे बात कर रही हैं.

दोनों के हाथ में प्लेकार्ड है और इस पर लिखा हैः “मैं हिंदुस्तान हूं. मैं शर्मिंदा हूं. पीड़िता के लिए न्याय की दरकार. 8 साल की बच्ची का गैंगरेप! हत्या! ‘देवी’-स्थान यानी मंदिर!!! कठुआ.” स्वरा भास्कर ने इसके अलावा लिखा है, ‘कठुआ, उन्नाव भी तो है, लानत है हम पर! चुप्पी तोड़ो और कुछ करके दिखाओ.’ हुमा कुरैशी ने भी कुछ इसी तरह गुस्से का इजहार किया है. स्वरा भास्कर तो वैसे भी सच और बेबाक बोलने के लिए सोशल मीडिया पर काफी पहचानी जाती हैं. तस्वीर में उनकी आंखों में गुस्सा साफ नजर आ रहा है. स्वरा और हम के साथ अभिनेत्री रिचा चड्ढा ने भी एक विडियो सन्देश के ज़रिये अपना विरोध दर्ज किया है. उनके हाथ में भी वैसी ही तक्तियाँ हैं जैसी स्वरा के हाथ में हैं. वहीं सारा बॉलीवुड ट्वीट ज़रिये भी इन मामलों की आलोचना कर रहा है. कुछ प्रमुख ट्वीट:

ट्विंकल खन्ना: मैंने इसे एक मां की तरह देखा और यह दिल दहला देने वाला है. एक महिला होने के नाते मैं गुस्से में हूं और एक नागरिक होने के नाते मैं पूरी तरह शर्मिदा हूँ.

कमल हासन: क्या यह समझने के लिए खुद की बेटी होनी चाहिए? वह मेरी हो सकती थी. मैं पुरुष, पिता और नागरिक होने के नाते गुस्से में हूं. मेरी बच्ची मुझे खेद है कि मैं तुम्हारे लिए देश सुरक्षित नहीं बना पाया. मैं भविष्य में आपके जैसे बच्चों के न्याय के लिए लड़ूंगा, हम कभी नहीं भूलेंगे.

प्रियंका चोपड़ा: कितने बच्चों की धर्म और राजनीति के चौराहे पर बली दी जाएगी? हमारे जागने से पहले कितने बच्चों को इससे गुजरना पड़ेगा? मैं बहुत निराश हूं, यह तुरंत कार्रवाई का समय है.

संजय दत्त: हम एक समाज के रूप में नाकाम रहे हैं! एक पिता होने के नाते, मैं हिल गया हूं और एक आठ साल की बच्ची के बारे में पढ़कर गुस्से में हूं. मेरा दिल पीड़िता के परिवार के साथ है, मैं पूरी तरह इसके खिलाफ हूं.

वरुण धवन: हमें इस बच्ची को न्याय दिलाने के लिए लड़ना होगा. हम इस तरह की चीजों को अनुमति नहीं दे सकते, वे भारत की बेटी थी. हमें उसके लिए न्याय की जरूरत है.

आयुष्मान खुराना: जाति, रंग, धर्म के बावजूद बच्चे केवल प्यार के हकदार हैं और एक बलात्कारी को केवल जाति, रंग, धर्म के बारे में सोचे बिना सजा मिलनी चाहिए…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eleven − eight =