Bigg Boss OTT Day 11: हर सदस्‍य हुआ नॉमिनेट, रो पड़े प्रतीक, राकेश और निशांत

83


Bigg Boss OTT Day 11: हर सदस्‍य हुआ नॉमिनेट, रो पड़े प्रतीक, राकेश और निशांत

मूस गाना गाती हैं और निशांत और नेहा उनका साथ देते हैं। गानों के जरिए नेहा कहती हैं कि प्रतीक फेक हैं। वह कहती हैं कि लाइफ में पहले ही सोच लिया था कि लोगों को दूर से आर्शीवाद दिया जा सकता है।

जीशान, दिव्‍या ओर नेहा से बात करते हैं और कहते हैं कि हमें ग्रुप में साथ आना चाहिए। दिव्‍या कहती हैं कि उनके साथ कोई खड़ा नहीं है, इसलिए वह ग्रुप में नहीं आना चाहती हैं। नेहा को दिव्‍या नीच बताती हैं और कहती हैं कि बस बकवास करती हो।

बिग बॉस राकेश से कहते हैं कि आप घर में बॉस हैं तो आपकी जिम्‍मेदारी बनती है कि घर सुचारू रूप से चले। राकेश यह बात हाउसमेट्स को बताते हैं। वह कहते हैं कि बिग बॉस ने उन्‍हें कैप्‍टन होने के नाते किसी के काम न करने पर दंड देने की अनुमति दी है। इस पर प्रतीक और राकेश में बहस हो जाती है।

साफ-सफाई को लेकर प्रतीक, राकेश और शमिता के बीच नोक-झोंक हो जाती है। प्रतीक कहते हैं कि शमिता ने टॉइलट में कप छोड़ा। इसी को लेकर खूब बहस होती है। प्रतीक सबसे कहते हैं कि यह पास आ रही हैं, इन्‍हें दूर करो। प्रतीक कहते हैं कि शमिता बौखला गई हैं। रिद्धिमा से नेहा कहती हैं कि हम ग्रुपिजम नहीं कर रहे हैं। वह कहती हैं कि उन्‍हें डिप्‍लोमैटिक न बताया जाए।

गार्डन एरिया में प्रतीक और राकेश के बीच खूब बहस होती है। निशांत भी राकेश पर चिल्‍लाते हैं क्‍योंकि वह शमिता का बचाव करते हैं। निशांत कहते हैं कि आप लोगों में स्‍टैंड लेने का दम नहीं है। आप लोगों को सही चीजें नहीं दिखती हैं।

जीशान और अक्षरा के बीच बहस शुरू हो जाती है। अक्षरा और नेहा की भी नोकझोंक होती है। अक्षरा कहती हैं कि आप लोग छोटा दिखाने की कोशिश करते हैं। शमिता कहती हैं कि यह आपके दिमाग में बैठ गया है।

मूस रोने लगती हैं और निशांत को समझाती हैं। निशांत कहते हैं कि जब काम करता हूं तो दिखता क्‍यों नहीं है। नेहा कहती हैं कि उनके यहां कोई नौकर नहीं है। कायर मत बनिए। अक्षरा कान बंद करके कहती हैं कि जितना चिल्‍लाना हो, चिल्‍लाइए।

शमिता और नेहा कहते हैं कि क्‍या सिर्फ आप लोगों में ही संस्‍कार है। प्रतीक और अक्षरा एक होकर बाकी सबसे बहस करते हैं। नेहा से अक्षरा कहती हैं कि आप लोगों को बात नहीं करनी है तो मत करो।

अक्षरा और प्रतीक बातचीत करते हैं। जीशान से शमिता कहती हैं कि अक्षरा असुरक्षित हैं। अब मिलिंद और नेहा में बहस होने लगती है। नेहा कहती हैं कि आपको अपनी चॉइस बदलनी हो तो बदल लो। मिलिंद कहते हैं कि बाहर आप यही कहती हो कि मिलिंद सपॉर्ट नहीं करता है। मिलिंद कहते हैं कि आपको वही चाहिए जो आपके हिसाब से चले।

पंचायत की तीसरी बैठक होती है और घर के सबसे कमजोर कनेक्‍शन पर बात करनी होती है। मिलिंद और नेहा कहते है कि हमारा कनेक्‍शन दिल का है और प्रतीक और अक्षरा को कमजोर बताते हैं। जीशान और दिव्‍या, प्रतीक और अक्षरा को कमजोर बताते हैं। प्रतीक और अक्षरा कहते हैं कि कनेक्‍शन मेंटली होता है। हम दोनों एक-दूसरे का स्‍टैंड लेते हैं।

प्रतीक कहते हैं बीच में मत बोलो। जीशान भिड़ जाते हैं। दोनों एक-दूसरे को पागल बताते हैं। प्रतीक बोतल पटकते हैं और मुंह से कुछ कहते हैं। दिव्‍या कहती हैं कि गाली क्‍यों दिया। प्रतीक कहते हैं कि जीशान को नहीं दिया, जनरल दिया।

करण कहते हैं प्रतीक से कि चुप हो, तब तो बोलूं। रिद्धिमा कहती हैं प्रतीक से कि मर्द है तो सामने आ। प्रतीक को अक्षरा खींच ले जाती हैं। करण और रिद्धिमा की बारी आती हैं और वह कहती हैं कि प्रतीक और अक्षरा का कनेक्‍शन का फेक है।

शमिता कहती हैं कि अक्षरा और प्रतीक को 3 वोट मिले हैं और नेहा और मिलिंद को 1 वोट मिला है। राकेश भी प्रतीक और अक्षरा को कमजोर कनेक्‍शन बताते हैं। शमिता और दिव्‍या की बहस शुरू हो जाती है। रिद्धिमा और प्रतीक की भी बहस हो जाती है। प्रतीक से रिद्धिमा कहती हैं कि जब तुम फैमिली पर जा सकते हो तो हम क्‍यों नहीं।

प्रतीक कहते हैं राकेश से कि आप स्‍पाइनलेस हो। राकेश कहते हैं कि अब ये मत बोलना। प्रतीक कहते हैं कि हर बार तुमने अपना डिसीजन चेंज किया है। दोनों की बहस होने लगती है। घर में कोई नतीजा नहीं निकल पाता है कि सबसे कमजोर कनेक्‍शन किसका है। हर कोई आपस में लड़ता है।

मूस पर बुरी तरह करण बौखला जाता हैं। जीशान रोकते हैं करण को। प्रतीक कहते हैं करण से कि आपकी रिस्‍पेक्‍ट करता हूं। रिद्धिमा बीच में आ जाती हैं और प्रतीक को पागल बताती हैं। प्रतीक कहते हैं कि उन्‍होंने किसी को गाली नहीं दी। वह भावुक हो जाते हैं और रो पड़ते हैं। वह कहते हैं कि उन्‍हें आवाज उठाने का मौका मिलना चाहिए।

प्रतीक और रिद्धिमा आपस में भिड़ जाते हैं और एक-दूसरे से कहते हैं कि शर्म करो। बिग बॉस कहते हैं कि पंचों को बहुत वक्‍त दिया गया लेकिन कोई फैसला नहीं लिया जा सका। बिग बॉस टास्‍क को रद्द करते हैं और दंड के रूप में कहते हैं कि सभी को घर से बेघर होने के लिए नॉमिनेट किया जाता है जिसमें शमिता और राकेश भी शामिल होते हैं। राकेश कहते हैं कि पॉइंटलेस चीजों पर झगड़ा होता है। राकेश रो पड़ते हैं तो करण, रिद्धिमा और शमिता उन्‍हें समझाने आ जाते हैं। करण कहते हैं कि भाई, तुम्‍हारे साथ हूं। राकेश कहते हैं कि पापा देश के लिए लड़े और वह यहां क्‍या कर रहे हैं। प्रतीक और जीशान एक-दूसरे से बात करते हैं। राकेश को जीशान समझाते हैं कि अभी तो दो ही हफ्ते हुए हैं, स्‍ट्रॉन्‍ग रहो।

उधर, निशांत रो पड़ते हैं तो अक्षरा, मूस और प्रतीक उन्‍हें रोकते हैं। निशांत कहते हैं कि उन्‍होंने प्रतीक को इतना कमजोर नहीं देखा। प्रतीक कहते हैं कि कुछ चीजें दिल पर लग जाती हैं। निशांत के आंसू अक्षरा पहुंचती हैं। राकेश कहते हैं कि उन्‍होंने निशांत को कहां से उठाया और घर में आकर बिल्‍कुल बदल गया। प्रतीक आते हैं राकेश के पास और सॉरी कहते हैं कि आपको बुरा लगा। निशांत भी आते हैं और राकेश को समझाते हैं।
बिग बॉस रिपोर्ट कार्ड के फैसले का अनाउंसमेंट करते हैं और कहते हैं कि आज के गेम से दर्शक खुश हैं। मिलिंद और नेहा बात करते हैं। मिलिंद कहते हैं कि वह किसी की बात में नहीं आएंगे और हम दोनों मिलकर खेलेंगे।

प्रतीक और रिद्धिमा आपस में अब आराम से बात करते हैं और चीजें सुलझाने की कोशिश करते हैं। रिद्धिमा पूछती हैं कि बात करो ना यार, वह सॉरी बोलती हैं और प्रतीक भी सॉरी बोलते हैं। दोनों एक-दूसरे को गले लगाते हैं।

जीशान और मिलिंद बात करते हैं कि सब दोस्‍त बन गए हैं क्‍योंकि सभी नॉमिनेट हैं। सब एक ही खेत मूली हैं। दिव्‍या को राकेश बोलते हैं कि शमिता बात करना चाहती हैं। शमिता कहती हैं कि सीनियर की रिस्‍पेक्‍ट करनी चाहिए। दिव्‍या उठकर चली जाती हैं। दिव्‍या बड़बड़ाते हुए कहती हैं कि कोई 20 साल सीनियर है तो सिर पर नाचेगा। आगे के अपडेट्स के लिए जुड़े रहें नवभारत टाइम्‍स के साथ…



Source link