वेतनवृद्धि को लेकर बैंक कर्मचारियों ने की हड़ताल

0
bankstrike
वेतनवृद्धि को लेकर बैंक कर्मचारियों ने की हड़ताल

देशभर के बैंक कर्मचारियों का दो दिवसीय हड़ताल का आज दूसरा दिन है जिससे आम जनमानस को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.
हड़ताल के कारण बैंकों में नकद निकासी, जमा और चेक समेत विभिन्न सेवाएं बाधित है।

बैंक कर्मचारियों ने भारत सरकार से अपनी मांग रखते हुए कहा है कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक कर्मियों का वेतन संशोधन नवंबर, 2017 से लंबित है. एआईबीईए के महासचिव सी एच वेंकटचलम ने कहा कि भारतीय बैंक संघ के साथ हमारी मांगों को लेकर आज हुई बैठक विफल रही है. ऐसे में हम 31 जनवरी से दो दिन की हड़ताल पर जा रहे हैं.हड़ताल को सफल बनाने के लिए बैंक कर्मी लगातार मेहनत कर रहे हैं।

बैंक यूनियन का दावा है कि सार्वजनिक बैंकों और निजी क्षेत्र के कुछ बैंकों के करीब 10 लाख कर्मचारी और अधिकारी हड़ताल में भाग ले रहे हैं, हालांकि आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक जैसे निजी क्षेत्र के बैंकों में कामकाज आम दिनों की तरह रहा।

स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के मुख्य शाखा प्रबंधक हेमन्त यादव ने बताया कि सरकार द्वारा बैंक कर्मियों के वेतन बढ़ोत्तरी, पेंशन, कर्मचारियों की कमी आदि मांगों को पूरा नहीं किया जा रहा है। ऐसे में बैंक कर्मियों ने इसके विरोध में दिनभर कोई काम नहीं किया।

यह भी पढ़ें : एअर इंडिया की हो सकती है बिक्री, 17 मार्च तक होगी नीलामी

इस हड़ताल के बाद बैंक कर्मचारियों ने कहा है की एकबार फिर सरकार से इस मुद्दे पर बातचीत की कोशिश की जाएगी। अगर बातचीत नहीं बन पाती है तो मार्च में 11,12 और 13 को 3 दिन की हड़ताल की चेतावनी दी गई है। उसके बाद भी शर्त नहीं मानने पर 1 अप्रैल 2020 से अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी दी गई है।