चंद्रयान-2 फेल हुआ तो ये युवक चढ़ा रेल इंजन पर और फिर…

0
chandrayaan-2
chandrayaan-2

भारत के महत्वकांक्षी मिशन चंद्रयान-2 फेल होने जाने के बाद से करोड़ों हिन्दुस्तानियों के मन में निराशा है। मगर एक शख्स ऐसा भी है जो चंद्रयान-2 के असफल होने से काफी दुखी है और जमकर बवाल काट रहा है। हद तो तब हो गई जब ये युवक रेल इंजन पर चढ़ गया।

उधर चांद पर इसरो का मिशन चंद्रयान-2 नाकाम और यहां हिन्दुस्तान में करोड़ों लोगों का दिल टूटा और काफी दुख हुआ। वहीं मध्य प्रदेश के सागर जिले में एक युवक तो इस बात से इतना नाराज हुआ कि उसने ट्रेन के इंजन की छत पर चढ़कर काफी देर हंगामा किया और वह चंद्रयान-2 मिशन के फेल होने की वजह पूछता रहा।

Install Kare Flipcart App aur Paaye Rs.500 PayTm Par Turant

इस बीच किसी तरह पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उसे काबू किया और ट्रेन को रवाना किया गया। घटना मध्य प्रदेश के नरयावली रेलवे स्टेशन की है। जहां एक सिरफिरा युवक ट्रेन के इंजन की छत पर बैठ गया। युवक चंद्रयान-2 मिशन के फेल होने से नाराज था और बार-बार गालियां देते हुए यही सवाल कर रहा था कि चंद्रयान-2 मिशन फेल क्यों हुआ? ट्रेन के लोकोपायलट और अन्य स्टाफ द्वारा युवक को समझा-बुझाकर इंजन की छत से उतारने की काफी कोशिश की गई, लेकिन युवक करीब आधे घंटे तक ऐसे ही उत्पात मचाता रहा। जिसके कारण ट्रेन भी लेट हो गई।

आपको बता दें कि ट्रेन के ऊपर हाईटेंशन ओवरहेड लाइन गुजर रही थी। ऐसे में युवक के छत पर चढ़कर हंगामा करने की वजह से किसी दुर्घटना होने की भी आशंका थी। इसलिए हाइटेंशन ओवरहेड लाइन की पावर सप्लाई बंद करनी पड़ी। इसके बाद पुलिस और आरपीएफ को सूचित किया गया। पुलिस के समझाने के बाद भी जब युवक नहीं माना तो उसे कुछ लोगों ने ट्रेन पर चढ़कर काबू किया और ट्रेन से नीचे उतारा। इसके बाद पुलिस ने आरोपी युवक को हिरासत में ले लिया। आरोपी युवक सागर जिले के शुक्रवारी इलाके का रहने वाला बताया जा रहा है।

घटना के वक्त मौजूद लोगों का कहना है कि आरोपी युवक नशे में था और नशे की हालत में ही वह हंगामा कर रहा था। वहीं कुछ लोगों ने कहा है कि युवक की मानसिक हालत ठीक नहीं थी। आरपीएफ द्वारा की गई मेडिकल जांच में भी युवक के मानसिक रुप से कमजोर होने की बात पता चली। इसके बाद आरपीएफ ने आरोपी युवक के घरवालों को सूचित कर बुलाया और युवक को उनके हवाले कर दिया।

बहरहाल, हम सभी चंद्रयान-2 मिशन के फेल होने से काफी दुखी हैं। इस परिस्थिति में बवाल काटने की बजाए हमें देश के विज्ञानिकों का हौसला बढ़ाना चाहिए।

ये भी पढ़ें : थाने पहुंचे प्रेमी-प्रेमिका तो बन गए पति-पत्नी, पुलिसवालों ने दिया आशीर्वाद