तो अमिताभ बच्चन की सफलता के पीछे है इनका हाथ, जानिए वे कौन है

0

हर कोई जानना चाहता है की आख़िर अमिताभ बच्चन की सफ़लता के पीछे किसका हाथ है। हम आप को बता दें की अमिताभ बच्चन की बेटी श्वेता नें अपना पहला उपन्यास लिखा है जिसका नाम पैराडाइज टावर्स है।

श्वेता बच्चन अमिताभ की फ़िल्म चयन करने में मदद करती है

जी हाँ शायद आप को जानकर हैरानी होगी की अमिताभ बच्चन की बेटी ही अमिताभ को फ़िल्म चयन करने में मदद करती है। जब भी अमिताभ बच्चन को कोई फ़िल्म करनी होती है वो उस फ़िल्म के करने से पहले अपनी बेटी श्वेता से बात करते है। खुद अमिताभ बच्चन नें बताया की उनकी बेटी को चीजों की अच्छे से जानकारी रहती है। वह चीजों को बहुत समझदारी से देखती है। घर, शहर, देश या दुनिया में होने वाली घटनाओं पर पैनी नज़र रखती है। उनके पास अपने विचार है, कई बार हम उस फ़िल्म के नतीजे पर भी काम करते है जिस पर हमनें काम किया हो। मैं उनके बारे में कहूंगा की वह हमेशा सही होती है।

बिग भी नें आगे कहा की जब वह कहती है की फ़िल्म अच्छी चलेगी तो फ़िल्म अच्छी चलती है, जब वह कहती है की फ़िल्म ख़राब चलेगी तो फ़िल्म खराब ही चलती है। मैंने कई बार उनके साथ फ़िल्म की कहानी साझा की है लेकिन मुझे दुख होता है की मैंने ऐसा पहले क्यों नहीं किया। मैं जिस चीज पर काम करता हुं वह मुझे उस पह शानदार विचार देती है।

मुझे पता था श्वेता लेखक बनेगी: जया बच्चन

जब जया बच्चन से पूछा गया की वह अपनी बेटी के लेखक बनने पर क्या सोचती है। तो उन्होंने कहा की मुझे पता था की वह लेखक ही बनेगी। मुझ पता था वह ऐसा ही करेगी, जब वह छोटी थी तभी मुझे यह एहसास हो गया था की वह लिखेगी। उन्होंने आगे कहा की वह करण जौहर के स्क्रीनप्ले लिखने के तरीके से प्रेरिरत है क्योंकि जिस तरह से वह अपनी फ़िल्मों में किरदार के बारे में जानकारी देते है, उसी का उपयोग श्वेता नें अपनी किताब में भी किया है।