गुजरात दंगा: अमित शाह ने दी गवाही!

0
गुजरात दंगा: अमित शाह ने दी गवाही!
गुजरात दंगा: अमित शाह ने दी गवाही!

गुजरात दंगा, एक ऐसा दंगा जिसे कोई शायद ही याद करना चाहेगा, क्योंकि इस दंगे से जख्म हरे हो जाते है। पंद्रह साल पहले से हुए गुजरात दंगों से लोगों की नींद उड़ गई थी। पूरे देश में दहशत का माहौल था, लेकिन आज हम फिर से आपको गुजरात दंगे की याद दिलाएंगे, क्योंकि गुजरात दंगा के दोषियों पर मुकदमा चल रहा है। गुजरात कांड के सुनवाई के लिए ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने गवाही दी। अब आपके मन में एक सवाल खड़ा हो रहा होगा कि आखिर गुजरात दंगें में अमित शाह गवाही क्यों दे रहे हैं और वो भी किसके लिए तो चलिए आपको बताते है कि आखिर अमित शाह ने क्यों दी गवाही?

खबर के मुताबिक, बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह नरोदा पाटिया केस में बयान देने पहुंचे अहमदाबाद सेशन कोर्ट पहुंचे हैं। साथ ही आपको यह भी बता दें कि साल 2002 में गुजरात दंगों के दौरान हुई इस घटना में बीजेपी लीडर माया कोडनानी दोषी करार दी गई हैं। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह बीजेपी लिडर के बचाव में गवाही दी हैं।

जानियें, अमित शाह ने क्या कहा…

कोर्ट में गवाही देने के दौरान अमित शाह ने अपने बयान में कहा कि मैं नरनपुरा में रहता था और 2002 में मैं सारखेज से विधायक था, 27 फरवरी 2002 को हमें गोधरा हिंसा की खबर मिली थी। इस गवाही के बाद जब कोर्ट ने शाह से पूछा कि वह 28 फरवरी 2002 को कहां थे तो जवाब में शाह ने कहा कि उस दिन मैं सुबह 8:30 बजे विधानसभा पहुंचा, गोधरा में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देने के बाद करीब आधे घंटे में ही विधानसभा की कार्रवाई स्थगित कर दी गई थी। इसके साथ ही शाह ने कोर्ट को यह भी बताया कि घटना वाले दिन माया कोडनानी विधानसभा में उपस्थित थीं।

अमित शाह की गवाही पर बड़ा सवाल….

आपको बता दें कि अमित शाह की गवाही के बाद सबसे बड़ा सवाल यह खड़ा होता है कि क्या अमित शाह की गवाही से बीजेपी लिडर निर्दोंष साबित हो जाएंगी या फिर कोर्ट अपना फैसला बरकरार रखता है, यह तौ खैर वक्त ही बताएगा।

गुजरात दंगों से बीजेपी को झेलनी पड़ी आलोचनाएँ….
आपको याद दिला दें कि गुजरात दंगों की वजह से बीजेपी और मोदी को कड़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था। आपको याद दिला दें कि गुजरात दंगें के समय में मोदी गुजरात के सीएम थे, ऐसे में मोदी पर दबाव बनाया जा रहा था कि वो इस्तीफा दें दे लेकिन मोदी ने साफ इंकार कर दिया था, इसके बाद से मोदी और बीजेपी को विपक्ष इस कांड पर घेरती आई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 − 7 =