अखिलेश यादव और डिंपल की शादी के पीछे इनका था हाथ।

0

बचपन में टीपू के नाम से पुकारे जाने वाले अखिलेश यादव के नाम यूपी के सबसे युवा मुख्यमंत्री बनने का रिकॉर्ड यूं ही नहीं है. इसके पीछे एक खास शख्सियत का हाथ है, वह हैं उनकी पत्नी डिंपल यादव.

उत्तर प्रदेश कि सत्ता हाथ में आते ही अखिलेश यादव ने एक इंटरव्यू में कहा था कि मेरी शादी होते ही मेरी किस्मत बदल गई. यह बात सही भी है क्योंकि नवंबर 1999 में अखिलेश और डिंपल यादव की शादी हुई और महज तीन महीने के अंदर फरवरी 2000 में वह कन्नौज से सांसद चुने गए. उस वक्त वह सबसे कम उम्र के सांसद थे.

2012  में समाजवादी पार्टी की बम्पर जीत के बाद अखिलेश यादव को सीधे सीधे सीएम का पद मिल गया. समाजवादी पार्टी में जब पारिवारिक कलह चरम पर थी, डिंपल ने कदम-कदम पर अखिलेश यादव का साथ दिया. अखिलेश ने यूपी चुनाव प्रचार में उन्हें स्टार प्रचारक की जिम्मेदारी सौंपी थी, जिसे डिंपल ने बखूबी निभाया. सपा को भले ही चुनाव में करारी शिकस्त मिली, लेकिन डिंपल लोगों के बीच अपनी छाप छोड़ने में कामयाब रहीं.

अखिलेश की हर परेशानी में डिंपल सबसे आगे खड़ी रहती है. साथ ही वह अपने बच्चो का पूरा ध्यान रखती है. आपको बता दें कि अखिलेश यादव और डिंपल की लव मैरिज है. दोनों का प्यार परवान चढ़ा और 24 नवंबर 1999 को सीएम अखिलेश यादव और डिंपल यादव ने लव कम अरेंज मैरिज कर ली. बताया जाता है कि शुरुआत में दोनों की शादी के लिए परिवार वाले तैयार नहीं थे. मुलायम सिंह यादव भी इस शादी के लिए राजी नहीं थे.

लेकिन फिर अमर सिंह ने अखिलेश यादव की शादी के लिए सबको राज़ी कर ही लिया. आख़िरकार अमर की मेहनत रंग लाई और अखिलेश-डिंपल सात फेरों के बंधन में बंध गए. डिंपल और अखिलेश के तीन बच्‍चे अदिति, अर्जुन और टीना हैं. इनमें अर्जुन और टीना जुड़वां हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

16 − 4 =