अखिलेश ने सरदार पटेल की जयंती के बारे में भाजपा पर लगाया बड़ा आरोप

0

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा ने झूठे वादे करके सत्ता हथियाई है। केंद्र और प्रदेश की सरकारें आम लोगों के लिए कुछ भी नहीं कर रही हैं। उन्होंने कहा कि आरएसएस पर सबसे पहले सरदार पटेल ने ही प्रतिबंध लगाया था।

अखिलेश यादव पार्टी मुख्यालय पर सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि पहले गृह मंत्री वल्लभ भाई पटेल ने अपने कामों से लाखों-करोड़ों लोगों का दिल जीता, इसलिए उनके नाम से पहले ‘सरदार’ जुड़ा। जबकि, उनकी सबसे ऊंची प्रतिमा लगाने वाले लोगों के बीच झूठ फैलाकर सत्ता में आए हैं। जीएसटी लगाकर व्यापारियों को परेशान कर दिया है, जिसके चलते देर-सबेर किसान भी और ज्यादा परेशान होगा। उन्होंने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ गुजरात में जाकर भाषण दे रहे हैं कि यूपी में आलू उत्पादक किसान बेहद खुशहाल है। चुटकी लेते हुए कहा कि उन्हें पता नहीं कि उनके इस भाषण की सीडी यूपी में भी आ चुकी है और लोगों के सामने उनके झूठ का पर्दाफाश हो रहा है।

अखिलेश ने कहा कि हमने सरदार पटेल की जयंती पर अवकाश घोषित किया था, जिसे भाजपा सरकार ने बंद कर दिया। अखिलेश ने नए छप रहे नोटों पर सभी प्रमुख महापुरुषों के फोटो छापने की मांग भी सामने रखी। अखिलेश ने कहा कि भाजपा सरकार उनके कार्यकाल में हुए विकास का मुकाबला नहीं कर सकती। योगी सरकार ने महज गन्ना मूल्य में 10 रुपये की बढ़ोत्तरी की, जिसका किसान भाई विधानसभा के सामने गन्ना जलाकर विरोध भी कर चुके हैं।

समाजवादी पेंशन बंद करने वालों से जनता जरूर हिसाब लेगी। अखिलेश ने कहा कि  सपा ने कुर्मी समाज के लिए सदैव उचित सम्मान दिया है। हंसते हुए कहा कि अध्यक्ष की कुर्सी को लेकर जब सपा में विवाद चरम पर था, तब नरेश उत्तम पटेल को उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

19 + two =