पत्रकार की हत्या पर अखिलेश का बीजेपी पर हमला, पर खुद की आलोचना करना भूल गए

0

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार को भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोला। अखिलेश ने कहा कि जो भी पत्रकार बीजेपी के खिलाफ लिखेंगे, वह सुरक्षित नहीं हैं। कुशीनगर में आयोजित एक सार्वजनिक सभा में अखिलेश ने कहा, एक तरफ तो आप डिजिटल इंडिया की बात कर रहे हो और अगर कोई पत्रकार आपके खिलाफ लिख दे तो उसकी जान चली जाती है। पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या का उदाहरण देते हुए अखिलेश यादव ने लिखा, बेंगलुरु की एक महिला पत्रकार ने भी बीजेपी के खिलाफ लिख दिया था…उसकी जान ले ली। 2019 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी को हराने के लिए अन्य विपक्षी पार्टियों से गठबंधन का भी अखिलेश यादव ने संकेत दिया। फिलहाल यूपी में गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं, क्योंकि गोरखपुर से सांसद और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व फूलपुर के सांसद और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए चुन लिए गए हैं।

अखिलेश राज में पत्रकार की हत्या

आज भले ही अखिलेश यादव बेंगलुरू में पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या को बीजेपी से जोड़ रहे हैं। लेकिन वो भूल गए है तो याद दिलाना जरूरी है कि 1 जून 2015, को यूपी के शाहजहांपुर में जगेन्द्र सिंह नाम के एक पत्रकार को कुछ पुलिस वालों और अपराधियों ने मिलकर जिंदा जला दिया था, जिसके 9 दिन बाद अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी। यही नहीं जगेन्द्र ने अपने पूरे होश-ओ-हवाश में ये बयान दिया था कि उन्हें अखिलेश सरकार के मंत्री राममूर्ति वर्मा के कहने पर जलाया गया है। जगेन्द्र ने अपने ऊपर हुए हमले से पहले भी फेसबुक पोस्ट पर साफ तौर से ये आशंका जाहिर की थी कि राममूर्ति उनपर जानलेवा हमला करवा सकते हैं। उस वक्त अखिलेश सरकार पूरी तरह से अपने मंत्री के पक्ष में खड़े हो गए थे। वारदात में शामिल पुलिस वालों को बस सस्पेंड कर दिया गया था।

लबौलुआब यही निकलता है कि सिस्टम पूरी तरह से सड़ गया है और सरकार कोई भी आवाज उठाने वालों के साथ एक सा बर्ताव करती है। कोई भी ऐसी सरकार नहीं जिसके वक्त आवाज उठाने वालों की हत्या नहीं हुई हो। विपक्ष में रहते हुए ये सरकार की आलोचना जरूर करते हैं लेकिन सरकार में आते ही ये उन हत्यारों को बचाने में जुट जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − eight =