Ajmer Crime News: महिला इंजीनियर को लगाया ₹50000 का चूना, 9वीं की छात्रा से रेप के आरोपी को 20 साल की जेल

0
55

Ajmer Crime News: महिला इंजीनियर को लगाया ₹50000 का चूना, 9वीं की छात्रा से रेप के आरोपी को 20 साल की जेल

| Lipi | Updated: Jul 13, 2022, 12:16 AM

Ajmer Crime News: राजस्थान के अजमेर शहर में एक महिला इंजीनियर के बैंक खाते से 50 हजार रुपए की ठगी हुई। वहीं एक 9वीं कक्षा की लड़की के साथ रेप मामले में कोर्ट ने दोषी युवक को 20 साल की जेल की सजा सुनाई है। रेप के इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से 11 गवाह और 25 दस्तावेज न्यायालय में पेश किए गए थे।

 

हाइलाइट्स

  • महिला इंजीनियर को बिना ओटीपी पूछे लगाया 50 हजार रुपए का चूना
  • कार्ड ब्लॉक करवाने से एक ट्रांजेक्शन हुआ फेल
  • उधर, कोर्ट ने एक रेपिस्ट को सुनाई 20 साल की जेल की सजा
अजमेर: ऑनलाइन ठगी की वारदातों का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। शातिर ठग नित नए तरीकों से वारदातें अंजाम देकर लोगों को चूना लगा रहे हैं। अजमेर की रहने वाली महिला इंजीनियर को भी इस बार शातिर ठगों ने अपना निशाना बनाया और उसके अकाउंट से पचास हजार रुपए साफ कर दिए। मामले में क्रिश्चियनगंज थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है। अजमेर के हरिभाऊ उपाध्याय नगर में रहने वाली रेशमा कोडवानी ने बताया कि वह इंजीनियर है और एचबीसी कम्पनी में बेंग्लूरू में जॉब करती है। इन दिनों वर्क फ्रॉम होम के चलते वह घर से ही काम कर रही है। रेशमा ने बताया कि 10 जुलाई की रात्रि में साढ़े 10 बजे लगभग उसका भाई खाना खा रहा था और वह बैठकर मोबाइल चला रही थी। इसी दौरान उसके पास आईसीआईसीआई बैंक का दस हजार रुपए के ट्रांजेक्शन का मैसेज आया तो उसे लगा कि जब उसने कुछ किया ही नहीं तो उसके खाते से रुपए कट नहीं सकते। बाद में दूसरा मैसेज दस हजार रुपए कटने और तीसरा मैसेज 40 हजार रुपए के ट्रांजेक्शन के ओटीपी का था। यह देखकर उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। उसने तुरंत आईसीआईसीआई बैंक के एप से अपने डेबिट कार्ड को ब्लॉक करवाया लेकिन तब तक चालीस हजार रुपए बैंक से कट चुके थे।

दस हजार एक सौ रुपए कटने से बचे
रेशमा कोडवानी ने कहा कि उसके कार्ड ब्लॉक करने के बाद भी खाते में लगभग 11 हजार रुपए की राशि थी। इसे निकालने के लिए भी साइबर ठग ने प्रयास किया लेकिन कार्ड ब्लॉक होने के कारण वह इसमें कामयाब नहीं हो सका। कोडवानी का कहना है कि उसने ना तो किसी कॉल पर अपने ओटीपी शेयर किए और ना ही किसी लिंक पर क्लिक किया। इसके बावजूद भी राशि कटना उसे अब तक समझ नहीं आ रहा है।
navbharat times -पत्नी के प्रेमी से परेशान पति पहुंचा थाने, घरवाली को हाथ लगाने पर भी धमकी, अजमेर पुलिस ने दर्ज किया केस
बैंक सहित चार जगह की शिकायत
रेशम कोडवानी ने बताया कि राशि कटने के बाद उसने तुरंत आईसीआईसीआई बैंक को ऑनलाइन शिकायत दर्ज करवाई वहीं इसके बाद साईबर सैल को इन्फॉर्म किया। इसके बाद आईसीआईसीआई बैंक की ब्रांच और क्रिश्चियनगंज थाना पुलिस को भी लिखित में शिकायत दी। पुलिस ने इसके बाद मुकदमा दर्ज कर लिया है। क्रिश्चयनगंज थानाधिकारी डॉ. रवीश सामरिया ने कहा कि रेशमा कोडवानी के साथ हुई ठगी की वारदात को लेकर धोखाधड़ी के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपी ने किस तरह से ठगी की वारदात अंजाम दी। इस संबंध में पूछताछ की जा रही है।

Copy

एप से हो सकती है जानकारी साझा
साइबर एक्सपर्ट का मानना है कि कई इस तरह के एप भी होते हैं जिनसे आपका सारा डाटा साइबर ठग पढ़ सकते हैं। इस मामले में भी यह हो सकता है कि किसी एप के जरिए ही ठग ने ओटीपी पढ़कर यह वारदात अंजाम दी हो। इसके लिए आमजन से यही अपील की जाती है कि प्ले स्टोर या एप्प्ल स्टोर पर वैरीफाइड एप ही काम में लें। जिससे कि इस तरह की ठगी से बच सकें।
navbharat times -राजस्थान: AC सर्विसिंग के चक्कर में महिला के दिमाग में चढ़ी गर्मी, चढ़वाना पड़ा ग्लूकोज, पैसे लुटते देख होश फाख्ता
9वीं कक्षा की छात्रा को अगवा कर दो माह तक रेप, आरोपी को 20 साल की सजा
अजमेर की पॉक्सो न्यायालय संख्या 1 के न्यायाधीश ने नवीं कक्षा की छात्रा को अगवा कर दो माह तक बंधक बनाकर रेप करने के मामले में फैसला सुनाया। उन्होंने आरोपी को दोषी करार देते हुए बीस साल के कठोर कारावास और 44 हजार रुपए अर्थदंड से दंडित करने की सजा सुनाई। पॉक्सो न्यायालय संख्या 1 के विशिष्ठ लोक अभियोजक रूपेन्द्र सिंह परिहार ने बताया कि मांगलियावास थाना क्षेत्र में रहने वाली नवीं कक्षा की छात्रा स्कूल से आने के बाद अचानक घर से गुम हो गई। छात्रा के पिता ने गुमशुदगी दर्ज करवाई साथ ही बहला फुसला कर ले जाने का अंदेशा भी जताया। जिसके बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच की। लगभग सवा दो माह बाद पीड़िता को दस्तयाब किया गया। पीड़िता ने न्यायालय के समक्ष कबूल किया कि उसे राहुल काठात अगवा कर ले गया था। उसने अलग अलग जगह पर उसे बंधक बनाकर रखा और उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल करवाया जिसमें भी दुष्कर्म होने की पुष्टि हुई।

11 गवाह और 25 दस्तावेज करवाए प्रदर्शित

रूपेन्द्र परिहार ने बताया कि पुलिस ने न्यायालय में चालान पेश किया। जिसके बाद अभियोजन पक्ष की ओर से 11 गवाह और 25 दस्तावेज न्यायालय में प्रदर्शित करवाए। इन सबके मद्देनजर विशिष्ठ न्यायाधीश बी एल जाट ने आरोपी राहुल जाट को दोषी करार देते हुए 20 साल के कठोर कारावास व 44 हजार रुपए के जुर्माने से दंडित करने की सजा सुनाई। परिहार ने कहा कि विशिष्ठ न्यायाधीश बी एल जाट ने मामले में टिप्पणी करते हुए कहा कि ऐसी बच्चियों के साथ घिनौना काम करने वाले दोषियों के साथ नरम रूख बरतना कतई उचित नहीं है। इनको सख्त सजा देने से ही समाज में ऐसा संदेश जाएगा और इस तरह की घटनाओं पर अंकुश लग सके।
(रिपोर्ट-नवीन वैष्णव )

भीलवाड़ा : जहाजपुर में आज भड़काऊ इंस्टाग्राम पोस्ट के नाम पर निर्दोष जेल मामले में विरोध प्रदर्शन

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

Web Title : ajmer crime news fraudsters withdraw rs 50000 from dabit card and a man gets 20 years in jail for raping school student
Hindi News from Navbharat Times, TIL Network

राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News