Agra News: आगरा पुलिस बनी लुटेरी, चांदी कारीगर को एनकाउंटर की धमकी देकर की लूट, एसएसपी के तीन को किया सस्पेंड

117

Agra News: आगरा पुलिस बनी लुटेरी, चांदी कारीगर को एनकाउंटर की धमकी देकर की लूट, एसएसपी के तीन को किया सस्पेंड

सुनील साकेत, आगरा: जनता की सुरक्षा करने वाली आगरा पुलिस अब लुटेरी बन गई है। आरोप है कि चांदी कारोबारी से दारोगा और दो पुलिस कर्मियों ने चांदी लूट ली। थाने में जबरन बिठाया गया। छोड़ने के एवज में पीड़ितों से 74 हजार की रिश्वत भी ली गई। आरोप यह भी है कि पैसे नहीं देने पर एनकाउंटर करने की धमकी भी दी। शनिवार को थाना समाधान दिवस के दौरान पीड़ित ने अपनी व्यथा एसएसपी को सुनाई। एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने तीनों आरोपी पुलिस कर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। साथ ही पीड़ित की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर जांच के आदेश दिए हैं।

हाथरस के विसावर थाना सादाबाद के रहने वाले विपिन और धर्मेंद्र पुत्र रमेश चंद्र चांदी कारीगर हैं। दोनों ने बताया कि वे चांदी कारोबारियों से कच्चा माल लेकर जेवर घर पर तैयार करते हैं। सात जून को धर्मेंद्र और विपिन थाना एत्मादुद्दौला के टेड़ी बगिया चौराहे पर दोपहर एक बजे खड़े थे। वे अपने घर लौट रहे थे कि तभी उनके पास एक कार आकर रुकी। उसमें तीन लोग सवार थे, जिनमें एक पुलिस वाला भी था। उसने दोनों को जबरन पकड़ लिया और फाउंड्री नगर की चौकी पर ले आए। यहां उनकी तलाशी ली गई। चांदी को दो नंबर की बताकर धमकाया गया। रातभर चौकी पर बैठाए रखा गया, जबकि धर्मेंद्र और विपिन ने चांदी से संबंधित कागजात दिखाने के लिए भी कहा, लेकिन पुलिसकर्मियों ने एक न सुनी। देर रात दोनों के पिता रमेश चंद से वॉट्सऐप कॉलिंग पर बात कराई। रमेश चंद ने फोन पर बात की और वह फाउंड्री नगर चौकी पर पहुंच गए। आरोप है कि दोनों को छोड़ने के एवज में फाउंड्री नगर चौकी इंचार्ज नीलकमल ने 74 हजार रुपये ले लिए, जबकि दोनों को छोड़ने के लिए दो लाख की डिमांड रखी गई। धर्मेंद्र और विपिन ने बताया कि उनके पास 350 ग्राम चांदी थी, जिसको पुलिस वालों ने लूट लिया उनकी जेब में रखे रुपये भी निकाल लिए।

थाना समाधान दिवस पर खुली पुलिसकर्मियों की पोल
शनिवार को थाना दिवस के मौके पर एसएसपी सुधीर कुमार सिंह और जिला अधिकारी प्रभु नारायण सिंह थाना एत्माद्दौला शनिवार को आए थे। इन दोनों की मौजूदगी में पीड़ित धर्मेंद्र व विपिन और उनके पिता रमेश चंद्र पेश हुए। पीड़ितों ने एसएसपी को बताया कि उनके साथ फाउंड्री नगर चौकी इंचार्ज और पुलिसकर्मियों ने लूट की है। एसएसपी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तीनों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है, जिनमें पानी नगर चौकी प्रभारी नीलकमल कॉन्स्टेबल कपिल चौधरी और आशीष नेहरा शामिल हैं।

शनिवार को ही चौकी इंचार्ज का हुआ था तबादला
एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने शनिवार को कई उप निरीक्षकों का तबादला किया था, जिनमें फाउंड्री नगर चौकी इंचार्ज नीलकमल गौतम को थाना ताजगंज के एकता चौकी पर स्थानांतरित किया था, लेकिन इस घटनाक्रम के बाद उन्हें तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है। एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने इस प्रकरण में एसपी वेस्ट सत्यजीत गुप्ता को जांच दी है। सत्यजीत गुप्ता 2 दिन में अपनी जांच रिपोर्ट पेश करेंगे। दोषी पाए जाने पर तीनों पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भिजवाया जाएगा।

उत्तर प्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Uttar Pradesh News