Agra में दिन दहाड़े महिला का अपहरण, 5 घंटे तक शहरभर में घुमाते रहे

24
Agra में दिन दहाड़े महिला का अपहरण, 5 घंटे तक शहरभर में घुमाते रहे

Agra में दिन दहाड़े महिला का अपहरण, 5 घंटे तक शहरभर में घुमाते रहे


सुनील साकेत, आगरा: उत्तर प्रदेश आगरा के थाना एत्माद्दौला पुलिस ने गुरुवार को तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है। शातिरों ने एक महिला का अपहरण कर लिया था। 5 घंटे तक उसे गाड़ी में घुमाते रहे। छोड़ने के लिए 50 लाख की फिरौती मांगी थी। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि आरोपी उसके यहां काम करता था। पुलिस ने शातिरों को जेल भेजा है, जिनमें एक आरोपी के साथ पुलिस की मुठभेड़ हुई, उसे अस्पताल भिजवाया है।

थाना एत्माद्दौला की रहने वाली महिला जलकल विभाग में कार्यरत है। महिला की नौकरी उसके पति की मौत के बाद अनुकंपा पर लगी है। नौकरी के साथ-साथ वह अपना ई-रिक्शा भी चलवाती है। महिला ने पुलिस को बताया कि 20 मार्च को सुबह उसके मोबाइल पर कॉल आया कि ई-रिक्शा का एक्सीडेंट हो गया है। ड्राइवर को चोट आ गई है तो वह कार्यालय से निकली, तभी एक कार से उसका अपहरण कर लिया गया। आरोपियों ने महिला के पर्स में रखे रुपये और सोने के आभूषण लूट लिए और 5 घंटे तक शहरभर में घुमाते रहे। महिला को छोड़ने के लिए आरोपियों ने उसकी बेटी से 50 लाख की फिरौती मांगी, लेकिन महिला उनके चंगुल से छूट निकली और पुलिस को पूरी कहानी बता दी। पुलिस ने अपहरण के आरोप में साहिल, मयंक गुप्ता और संजीव चौधरी को गिरफ्तार किया है।

आरोपी ने कर ली थी बेटी से दोस्ती

महिला पूर्व में सिकंदरा के रुनकता क्षेत्र में रहती थी। आरोपी संजीव चौधरी का मकान भी वही था। संजीव का महिला के परिवारवालों से जान पहचान थी। महिला का ई-रिक्शा का काम करने के लिए उनके घर काम करता था। इसी बीच उसके पति की मौत हो गई और पति के स्थान पर उसे नौकरी मिल गई। पुलिस ने बताया कि महिला के घर संजीव का आना-जाना था। महिला की बेटी से आरोपी संजीव ने नजदीकियां बढ़ा ली थीं। जानकारी होने पर महिला ने अपना घर बदल लिया था।

छूटने के बाद भी मांगते रहे फिरौती

डीसीपी सिटी विकास कुमार ने बताया कि आरोपी महिला को अपनी कार में इधर-उधर घुमाते रहे। महिला की तबीयत खराब होने लगी और उसने पानी मांगा और आरोपियों ने पेट्रोल भराने के लिए गाड़ी रोकी, तभी चकमा देकर महिला आरोपियों के चंगुल से छूटकर भाग गई और शोर मचा दिया। शोरगुल सुनकर आरोपी अपनी गाड़ी भगा ले गए, मगर महिला का मोबाइल फोन उनके पास ही रह गया। थाना प्रभारी राजकुमार ने बताया आरोपियों की पकड़ से छूटने के बाद भी महिला के मोबाइल से वॉट्सएप कॉल पर फिरौती की रकम मांग रहे थे। लगातार कॉल करते रहे और नहीं देने पर छोटी बेटी को उठाने की धमकी दे रहे थे। मुठभेड़ में साहिल घायल हो गया है।

उत्तर प्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Uttar Pradesh News