सिर दर्द के इलाज के लिए अपनाए आयुर्वेदिक उपचार

0

बढ़ते प्रदूषण और खान-पान की गलत आदतों की वजह से लोगगों में सिरदर्द की समस्या बढती ही जा रही है. वहीँ भाग-दौड़ भारी ज़िंदगी के ढेरों काम भी सिरदर्द कका सबब बनते हैं. इसके अलावा दिनभर की थकान के कारण भी सिरदर्द हो जाता है. हम इस समस्या को जितना अछोता समझते हैं ये उतनी है नही. लोग अक्सर वक्ती इलाज के लिए तरह-तरह की दवाईयों का सहारा लेते हैं, मगर ये दवाइयां न सिर्फ हमारे शरीर पर नकारात्मक असर डालती हैं बल्कि हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी कमज़ोर करती हैं. लेकिन अगर दवाई न ली जाए तो क्या किया जाये.

इसीलिए आज हम आपके लिए घरेलू आयुर्वेदिक दवाईयों के उपचार लाये हैं. दवाईयों का इस्तेमाल न करके घरेलू उपचार अपनाकर भी सिर दर्द की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है.

  • सिर के दर्द में लौंग का इस्तेमाल काफी महत्वपूर्ण है. लौंग में दर्द खत्म करने के कई गुण होते हैं. लौंग को गर्म करके किसी कपड़े में बांधकर सूंघने से सिर दर्द में बहुत राहत मिलती है. इसके अलावा लौंग के तेल से अपने माथे की मालिश करने से भी दर्द से निजात पाई जा सकती है.

  • सर्दी में सिर दर्द से परेशान रहने वाले लोगों को सोंठ काफी राहत देने में मददगार साबित हो सकता है. इसके लिए पानी में सोंठ पीसकर, उसका पेस्ट माथे पर लगाने से सर्दी से होने वाला सिर का दर्द रुक जाता है.
  • नींबू कई बीमारियों में काम आता है. सिर दर्द में चाय में नींबू मिलाने से भी राहत पाई जा सकती है. इसके लिए नींबू को चाय में निचोड़कर पीना चाहिए.
  • तुलसी और अदरक के इस्तेमाल से भी सिर के दर्द से निजात पाई जा सकती है. इसके लिए तुलसी की पत्तियों का और अदरक का रस एक साथ मिलाएं. इसके बाद इसे माथे पर लगाएं. वहीं इस रस को सिर दर्द से परेशान व्यक्ति को पिलाया भी जा सकता है. इससे सिर दर्द में काफी राहत मिलेगी.
  • रात को सोते समय हल्दी वाला गर्म दूध पीने से भी सिर दर्द से सुकून मिलता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × three =