आगरा: समोसा खाकर इसाई धर्म अपनाएंगे तो बच्चो को शिक्षा भी देंगे

0

उत्तर प्रदेश के आगरा से महिला दिवस के अवसर पर धर्मांतरण का संदेहस्पद मामला सामने आया है. कुछ लोगों का आरोप है कि चर्च से आये अज्ञात लोगों ने झुग्गी बस्ती के बाशिंदो का धर्मांतरण कराने की कोशिश की. न्यूज़ एजेंसी एएनआई की खबर के अनुसार आगरा के सेक्टर चार में जगदीश पुरा की विकास कॉलेनी में रह रहे झुग्गी बस्ती के बाशिंदों से कुछ लोगों ने दूसरा धर्म अपनाने के लिए कहा. लोगों का आरोप है कि उनसे ईसाई धर्म अपनाने के लिए कहा गया. उन्हें बताया गया कि धर्मांतरण के बाद उनके बच्चों को शिक्षा, घर और अच्छी ज़िन्दगी दी जाएगी.

झुग्गी बस्ती की निवासी माया ने मीडिया को बताया, ‘कुछ लोगों ने हमें समोसा दिया और कहा कि अपने बच्चों की शिक्षा के लिए धर्म बदल लें. इस दौरान एक शख्स ने यह सब देखा तो उसने इसका विरोध किया. इसके तुंरत बाद ‘फादर’ बनकर आए शख्स ने अपने कपड़े बदल लिए. जिसके बाद पुलिस को बुलाया गया. उन लोगों ने जो समोसे दिए उन्हें खाकर चक्कर आने लगे. खुद मेरी बेटी को भी चक्कर आ गए.’

वहीं जब इस पूरे मामले पर आगरा शहर के एसपी से बात की गयी तो उन्होंने ने बताया कि पूरे प्रकरण के खिलाफ एक संगठन ने शिकायत की है. पूरी घटना की बारीकी से जांच की जा रही है. एसपी ने कहा, ‘इसाई मिशनरी के लोगों से बात की है. उनका कहना है कि वो महिला दिवस पर शिक्षा के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए वहां पहुंचे थे. लेकिन दूसरे पक्ष का कहना है कि वहां धर्मांतरण किया जा रहा था.’ झुग्गी बस्ती निवासियों की तरफ से अभी तक कोई शिकायत नहीं की गई है.

उल्लेखनीय है कि ये पहली बार नहीं है जब इसाई धर्मगुरुओं या मिशनरी के कार्यकर्ताओं पर धर्मांतरण का आरोप लगा हो. केरल, झारखंड तथा अरुणाचल प्रदेश जैसी जगहों पर अक्सर ऐसे मामलों की शिकायत सामने आती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × four =