करतारपुर साहिब के दर्शन के लिए खोले गए 80 इमीग्रेशन काउंटर

0
katarpur
करतारपुर साहिब के दर्शनके लिए खोले गए 80 इमीग्रेशन काउंटर

पिछले सप्ताह भारत और पाकिस्तान के बीच करतारपुर कॉरिडोर पर समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे। जिसके तहत भारतीय तीर्थयात्रियों को पाकिस्तान में गुरुद्वारा दरबार साहिब में वीजा मुक्त यात्रा करने की मंजूरी मिल चुकी हैं। पाकिस्तान ने करतारपुर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए 80 इमीग्रेशन काउंटर स्थापित भी कर दी गयी है। इन काउंटर्स पर भारत से पाकिस्तान आने वाले श्रद्धालुओं को क्लीयरेंस मिला करेगी।

जिन यात्रियों को करतारपुर साहिब के दर्शन करने हैं उन्हें पहले अप्लाई करना होगा, फिर पाकिस्तान की एजेंसी फेडरेल इंवेस्टिगेशन एजेंसी नामों की जांच करेगी और करतारपुर पहुंचने से 10 दिन पहले ही यात्रियों की सूची भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को सौंपेगी. खबरों के मुताबिक करतारपुर साहिब जाने से पहले सभी यात्रियों के पासपोर्ट स्कैन किया जाएगा. इसके बाद स्पेशल बसों से यात्रियों को पाकिस्तानी रेंजरों की सुरक्षा में गुरुद्वारा दरबार साहिब ले जाया जाएगा।

यह भी पढ़ें : असम के सांसद अजमल ने दो बच्चों नीति पर कहा ‘मुसलमान ज्यादा बच्चे पैदा करते रहेंगे कोई कानून उन्हें…’

करतारपुर कॉरिडोर सिखों के लिए सबसे पवित्र जगह में से एक है. ऐसा कहा जाता है कि प्रथम गुरु, गुरुनानक देव जी का निवास स्‍थान था. गुरु नानक ने अपनी जिंदगी के आखिरी 17 साल 5 महीने 9 दिन यहीं गुजारे थे. उनका सारा परिवार यहीं आकर बस गया था. उनके माता-पिता और उनका देहांत भी यहीं पर हुआ था. इस लिहाज से यह पवित्र स्थल सिखों के मन से जुड़ा धार्मिक स्थान है. भारत में श्रद्धालुओं को इस दिन का बेसब्री से इंतेज़ार था कि कब उन्हें करतारपुर साहिब का दर्शन करने का अवसर मिलेगा और उनकी ज़िन्दगी तृप्त हो जयेगी।