6 सीओ, 128 जवान, पेट्रोलिंग के लिए 12 इनोवा गाड़ियां… जानिए बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे पर सुरक्षा के क्या-क्या है इंतजाम

0
166

6 सीओ, 128 जवान, पेट्रोलिंग के लिए 12 इनोवा गाड़ियां… जानिए बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे पर सुरक्षा के क्या-क्या है इंतजाम

बांदाःबुंदेलखंड एक्सप्रेसवे पूरी तरह तैयार हो गया है। अब बस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों 16 जुलाई को इसके लोकार्पण का इंतजार है। फाइनल फेसिंग के बाद सरकार ने इसमें सफर करने वाले यात्रियों की सुरक्षा को लेकर भी सारे इंतजाम किए हैं। इसमें सफर करने वाले यात्रियों की सुरक्षा के लिए 6 सीओ और 128 पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं। इनमें सेना और पुलिस के जवान हैं। साथ ही 12 इनोवा गाड़ियां पेट्रोलिंग के लिए लगाई गई हैं, जो 24 घंटे एक्सप्रेस वे में फर्राटा भरते हुए यहां से गुजरने वाले वाहनों पर पैनी नजर रखेंगी। किसी अप्रिय घटना होने पर पुलिस ऐक्शन में आ जाएगी।

एक खंड में 24 आर्मी के सिपाही
यूपीडा के सहायक अभियंता एसके यादव ने बताया कि एक्सप्रेस वे में सफर करने वाले यात्रियों की सुरक्षा का विशेष ख्याल रखा गया है। एक्सप्रेस वे के प्रत्येक 50 किलोमीटर एरिया को एक खंड बनाया गया है, जिसमें सुरक्षा के लिए 24 आर्मी के सिपाही, 3 पुलिसकर्मी और एक सीओ स्तर के अधिकारी की तैनाती होगी। सेना के जवान रिटायर्ड कर्मी होंगे। इनकी तीन शिफ्टों में ड्यूटी लगाई जाएगी। एक शिफ्ट 8 घंटे की रहेगी। फिलहाल 128 सुरक्षाकर्मियों की ड्यूटी लगाई जा चुकी है। इसके अलावा 12 इनोवा गाड़ियां लगाई गई हैं, जो लगातार इस एक्सप्रेस वे में दौड़ती रहेंगी और इस दौरान संदिग्ध वाहनों और व्यक्तियों पर पैनी नजर रहेगी। इन सुरक्षाकर्मियों की 24 घंटे ड्यूटी रहेगी ताकि इसी तरह की अप्रिय घटना न होने पाए।

बुंदेलखंड के 150 से ज्यादा गांव लाभान्वित होंगे
296 किलोमीटर लंबा बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे चित्रकूट के भरतकूप से शुरू होकर इटावा होते हुए कुदरौल के पास आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे से मिलेगा। यहीं से एक्सप्रेस-वे दिल्ली से जुड़ेगा। इसमें शामिल बुंदेलखंड के पांच जिलों सहित सभी सातों जिलों के 200 से भी ज्यादा गांवों के लोग लाभान्वित होंगे। बुंदेलखंड के 150 से ज्यादा गांव भी शामिल हैं। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे छह लेन का होगा, लेकिन फिलहाल पक्की सड़क सिर्फ चार लेन की होगी। इनकी चौड़ाई 110 मीटर होगी। दो लेन बाद में विस्तारित किए जाएंगे। पैदल चलने वाले राहगीरों और पशुओं के लिए अंडरपास भी बनाया गया है।

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे एक नजर में
– 4 रेलवे ओवर ब्रिज
– 14 लंबे पुल
– 6 टोल प्लाजा
– 7 रैंप प्लाजा
– 266 छोटे पुल
– 18 फ्लाईओवर
– कुल लंबाई 296 किमी
– कुल लागत 14849.09 करोड़
– 12 पेट्रोलिंग वाहन

Copy

रिपोर्टः अनिल सिंह

उत्तर प्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Uttar Pradesh News