16000 गोपियों सपना रखने वाले वीरेंद देव के आश्रम पर पड़ी रेड, बाबा अब भी लापता

आध्यात्मिक ईश्वरीय विश्वविद्यालय चला रहे वीरेंद्र दीक्षित अपने हरकतों से काफ़ी समय से विवाद में हैं. कथित बाबा वीरेंद्र पर कई महिलाओं से बलात्कार और यौन शोषण के आरोप लगे हैं. कुछ समय पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था. जिसमें एक स्थानीय महिला आरोप लगा रही है कि उसकी लड़की घर से 8 लाख रुपए लेकर आश्रम भाग आई. इतना ही नहीं जब उस महिला ने अपनी बेटी से मिलने की कोशिश की तो उसे मिलने नहीं दिया गया. लगभग दो दशक पहले वीरेंद्र देव के फर्रुखाबाद आश्रम को लेकर भी बहुत बड़ा विवाद हुआ था.

दिल्ली के रोहिणी में स्थित विजय विहार इलाके में बने बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के आध्यत्मिक विश्वविद्यालय पर दिल्ली नगर निगम ने हमला बोल दिया है. बाबा पर आरोप है कि इमारत में बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण किया गया है. हालांकि महिलाओं के साथ यौन शोषण का आरोप झेल रहा बाबा अब तक पुलिस की पहुंच से दूर है.

बाबा के इमारत चूर-चूर

एमसीडी ने इमारत की तोड़-फोड़ शुरू कर दी है और सबसे पहले इमारत के ऊपरी हिस्से को ढहा दिया, जिस जगह महिलाएं बाबा के साथ ध्यान करती थीं. आश्रम में अवैध तौर पर बनी बेसमेंट पार्किंग भी है. एमसीडी की मानें तो हर अवैध हिस्से को ख़त्म कर दिया जाएगा.

आश्रम के लोगों को कई बार एमसीडी से नोटिस भी दिया गया जिसको उन्होंने लेने से इन्कार कर दिया.

कोर्ट से भी फरार बाबा

एक तरफ विश्वविद्यालय तोड़ा जा रहा है दूसरी तरफ बाबा वीरेंद दीक्षित ही आश्रम से गायब हैं. बाबा को 4 जनवरी को दिल्ली हाइकोर्ट में पेश होना था लेकिन वो पेश नहीं हुआ. अब बाबा को 5 फरवरी तक कोर्ट में हाज़िर होना है, उसके खिलाफ सीबीआई ने यौन शोषण और अपहरण के तीन मामले दर्ज किए हैं.

दिल्ली महिला आयोग ने इस आश्रम का दौरा भी किया था. वीरेंद्र देव के देश और देश से बाहर करीब 200 आश्रम हैं जिनमें विजय विहार का आश्रम सबसे बड़ा है.