हमने गद्दारी नहीं गदर किया, आपने अपने पिता के विचारों को बेचा… BKC मैदान से एकनाथ शिंदे का उद्धव ठाकरे पर तीखा हमला

0
92

हमने गद्दारी नहीं गदर किया, आपने अपने पिता के विचारों को बेचा… BKC मैदान से एकनाथ शिंदे का उद्धव ठाकरे पर तीखा हमला

मुंबई: दशहरा रैली को लेकर एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे गुट में ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने के लिए होड़ लगी हुई थी। अपने भाषण से पहले मंच पर उठकर सीएम शिंदे ने नतमस्तक होकर बीकेसी ग्राउंड पर उमड़ी लाखों की भीड़ को नमन किया। उन्होंने कहा कि आप ही असली शिवसेना हैं। महाराष्ट्र के कोने-कोने से आने के लिए आप सभी का शुक्रिया। यह रैली तो शाम 5 बजे शुरू होने वाली थी लेकिन आप सब यहां कल से ही मौजूद हैं। मुख्यमंत्री बनने के पहले मैं भी आपकी तरह ही एक सामान्य शिवसैनिक था। हिंदुत्व के मुद्दे पर स्टैंड लेने के लिए आज मेरे साथ आप सभी का समर्थन है। शिंदे ने कहा हमारे ऊपर गद्दार होने का आरोप लगाया जा रहा है। गद्दारी हुई है लेकिन वो 2019 में विधानसभा चुनाव के बाद हुई थी। MVA बनाकर 2019 में गद्दारी की गई थी। हमने गद्दारी नहीं गदर किया। उद्धव ठाकरे पर हमला करते हुए एकनाथ शिंदे ने बीकेसी मैदान की रैली में कहा कि आपने (उद्धव ठाकरे) अपने पिता (बाल ठाकरे) के विचारों को बेचा है।

बाला साहेब का असली वारिस कौन?

मंच पर बोलते हुए एकनाथ शिंदे ने कहा कि ग्राउंड मैदान पर मौजूद इस भीड़ को देखकर अब कोई भी यह सवाल नहीं पूछेगा कि स्वर्गीय बालासाहेब ठाकरे का असली वारिस कौन है? शिंदे ने कहा कि दशहरा रैली के लिए हमने शिवाजी पार्क के लिए भी पहले अर्जी दी थी लेकिन एक मुख्यमंत्री होने के नाते राज्य की कानून व्यवस्था को बरकरार रखना भी मेरी जिम्मेदारी है। अब आप समझ गए होंगे कि हमने यह फैसला क्यों किया।

Shiv Sena Dussehra Rally: कटप्पा को माफ नहीं करेंगे शिवसैनिक… दशहरा रैली में उद्धव ठाकरे ने रावण से की एकनाथ शिंदे की तुलना
बीते 3 महीनों से मैं महाराष्ट्र के हर जिले और गांव में घूम रहा हूं। वहां मुझे लोगों का भारी जनसमर्थन मिल रहा है। अगर हमने गद्दारी की होती तो क्या आप लोग इतनी बड़ी संख्या में इतनी दूर से मेरा भाषण सुनने आते। शिवसेना न तो उद्धव ठाकरे की है और न हमारी है शिवसेना सिर्फ बालासाहेब ठाकरे और उनके शिवसैनिकों की है।

navbharat times -Eknath Shinde: एकनाथ शिंदे के मंच पर बाल ठाकरे का कुनबा, जयदेव ठाकरे बोले सीएम मेरे फेवरेट
उद्धव ठाकरे ने की गद्दारी, हमने नहीं
उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए एकनाथ शिंदे ने कहा कि बीते दो महीनों से हमें गद्दार और पचास खोखे जैसे शब्दों के जरिए निशाना बनाया जा रहा है। इनके पास बोलने के अलावा और कुछ भी नहीं है। साल 2019 में जब शिवसेना बीजेपी का गठबंधन तोड़ा गया तब क्या गद्दारी नहीं थी। चुनाव में एक तरफ बालासाहेब ठाकरे और दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फोटो लगाकर आप ने चुनाव लड़ा। लेकिन जब गठबंधन को बरकरार रखने की बात आई तब आपने महाराष्ट्र की जनता द्वारा दिए गए जनमत का ध्यान नहीं दिया और कुर्सी के लालच में गद्दारी की। असल में गद्दारी आपने की है। हमने गद्दारी नहीं गदर किया है। यह लोग हमें कहते हैं कि हम बाप चुराते हैं लेकिन आपने अपने बाप के विचार ही बेच दिए। फिलहाल जनता का समर्थन हमारे साथ है।

Copy

मैंने सिर्फ दिया किसी से लिया नहीं
एकनाथ शिंदे ने कहा कि साल 1992- 93 में जिन लोगों ने बालासाहेब ठाकरे को गिरफ्तार करवाया आप ने उन्हीं के साथ सरकार बनाई। उस समय आपको कुछ भी महसूस नहीं हुआ। हमने शुरुआत से इस गठबंधन का विरोध किया था और सही समय पर इस संबंध में फैसला भी गया। शिंदे ने कहा कि उद्धव ठाकरे और मेरे बीच क्या तय हुआ था यह मैं बता सकता हूं लेकिन अभी नहीं बोलूंगा। तब मैंने सिर्फ यही कहा था आप आगे बढ़िए हम सब आप के साथ हैं। एकनाथ शिंदे सिर्फ देना जानता है लेना नहीं। आपने क्यों शर्त नहीं रखी कि जिनके अंडरवर्ल्ड के साथ संबंध हैं वो मंत्री नहीं बनेंगे।

राजनीति की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – राजनीति
News