स्वतंत्रता दिवस पर तेजस्वी ने मांगी आजादी, मोदी सरकार पर कसा तंज; बुरी तरह ट्रोल हुए डिप्टी CM

6
स्वतंत्रता दिवस पर तेजस्वी ने मांगी आजादी, मोदी सरकार पर कसा तंज; बुरी तरह ट्रोल हुए डिप्टी CM

स्वतंत्रता दिवस पर तेजस्वी ने मांगी आजादी, मोदी सरकार पर कसा तंज; बुरी तरह ट्रोल हुए डिप्टी CM

देश आज स्वाधीनता दिवस की 77वीं वर्षगांठ मना रहा है। लाल किले की प्राचीर पर तिरंगा झंडा फहराने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता के नाम संदेश दिया।  इस पर बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने तंज कसा है। तेजस्वी ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर आजादी की मांग की है। जनता को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं देते हुए तेजस्वी यादव ने कुल 16 बिंदुओं पर आजादी की मांग की है बिहार के डिप्टी सीएम अपने ट्वीट पर बुरी तरह ट्रोल हो गए हैं। तेजस्वी का विरोध करने वालों ने जमकर उनकी खबर ली है।

अपने ट्विटर अकाउंट पर संदेश पोस्ट कर तेजस्वी यादव ने कुल 16 प्वाइंट्स पर आजादी मांगा है। तेजस्वी यादव लिखते हैं- 

देश को अब आज़ादी चाहिए:-

जुमलेबाज़ों से, फ़र्ज़ी प्रचारों से, झूठ फैलाने वालों से, लंबे उबाऊ भाषणों से, मज़दूर की मजबूरियों से, ग़रीब विरोधी नीतियों से, महँगाई फैलाने वालों से, बेरोज़गारी बढ़ाने वालों से, अन्याय और अन्यायियों से, सरकार की कमज़ोरियों से, कुशासन की परेशानियों से, षड्यंत्र और षड्यंत्रकारियों से, अत्याचार और अत्याचारियों से, जनता को गुमराह करने वालों से, नफ़रत और नफ़रत फैलाने वालों से, पूँजीपतियों के आगे नतमस्तक शासन से। आप  सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ।

ट्वीट पर तेजस्वी यादव के विरोधियों ने जमकर हमला किया है। चंदन शर्मा नामक एक ट्रोलर में लिखा है- 

देश को आजादी चाहिए- 

घोटालेबाजों से, झूठ बोलने वालों से, अनपढ़ गवारों से कम पढ़े-लिखे नेताओं से, दादागिरी करने वाले गुंडो से, जनता को डरा कर रखने वाले नेताओं से, भाई भतीजा बात जातिवाद से…।

सोनिया सिंह के नामक यूजर ने लिखा है- आजादी चाहिए इस चारा … से। सुधीर मिश्रा ने  लिखा है- …लालू जेल क्यों नहीं जा रहे। उनकी सही जगह जेल में है।  राहुल नामक यूजर ने लिखा है- भाई चारा चोर के साथ भारत का झंडा भी शोभा नहीं देता। 

 

इससे पहले डिप्टी सीएम ने पत्रकारों से बातचीच में कहा कि लोगों को उम्मीद थी कि पीएम रोजगार सहित जनहित के मुद्दों पर बात करेंगे। लेकिन पीएम अपने भाषण में राजनीति करते नजर आए। आज के दिन ऐसा करना शोभा नहीं देता। माना जा रहा था कि पीएम रोजगार के अवसर, स्टार्टअप इंडिया, मेक इन इंडिया, किसानों की आय दोगुनी करने जैसे मुद्दों पर अपनी बात रखेंगे। उन्हें भ्रष्टाचार से लड़ने के बारे में बात करते हुए सुना गया। लेकिन एक दिन पहले अजित पवारको भ्रष्टाचारी बोल रहे हैं, वहीं, दूसरे दिन उन्हें गले लगा रहे हैं।ऐसे में  कौन से भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई है यह समझ से पड़े हैं। लेकिन,  देश की जनता सब देख रही है। 

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News