स्ट्रगल याद कर रो पड़े मिथुन चक्रवर्ती- फुटपाथ पर खाली पेट सोया, स्किन के रंग के कारण अपमान हुआ

0
160

स्ट्रगल याद कर रो पड़े मिथुन चक्रवर्ती- फुटपाथ पर खाली पेट सोया, स्किन के रंग के कारण अपमान हुआ

एक्टर मिथुन चक्रवर्ती की गिनती आज बॉलीवुड के उन स्टार्स में होती है, जिन्होंने हिंदी सिनेमा को दुनिया भर में पहुंचाया है। मिथुन चक्रवर्ती ने 1976 में ‘मृगया’ से अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की थी। इसके लिए उन्हें नैशनल अवॉर्ड भी मिला था। यही नहीं, मिथुन दा के नाम लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड भी दर्ज है क्योंकि वह एकमात्र एक्टर हैं, जिनकी एक साल में (1989 में) 19 फिल्में रिलीज हुई थीं। आज भले ही मिथुन चक्रवर्ती की लाखों में फैन फॉलोइंग है और हर कोई उनके साथ काम करने के सपने देखता था। पर ऐसा भी वक्त था, जब मिथुन को उनके स्किन के रंग के लिए अपमानित किया गया। मिथुन चक्रवर्ती हाल ही जब सिंगिंग रिएलिटी शो ‘सा रे गा मा पा लिटिल चैंप्स’ में आए तो संघर्ष के दिन याद कर रो पड़े।

Mithun Chakraborty ने बताया कि न तो उनके पास खाने के लिए कुछ था और न ही सोने के लिए सिर पर छत। वह कई दिन फुटपाथ पर सोए। इतना कहकर मिथुन चक्रवर्ती रो पड़े और कहा कि उन्होंने जो कुछ सहा, वह नहीं चाहते उस दर्द से जिंदगी में कोई और गुजरे। मिथुन ने बताया कि इसी वजह से वह नहीं चाहते कि उनकी जिंदगी पर फिल्म बने।

पढ़ें: मिथुन चक्रवर्ती सुसाइड के बारे में लगे थे सोचने, कहा- लगता था कामयाब नहीं हो पाऊंगा, पर मैं लड़ा

‘स्किन कलर के लिए अपमान हुआ, खाली पेट फुटपाथ पर सोया’
मिथुन चक्रवर्ती ने कहा, ‘मैं कभी नहीं चाहता कि मेरे जीवन में जो कुछ हुआ है, उससे कोई और गुजरे। हर किसी ने संघर्ष देखा है और कठिन दिनों में संघर्ष किया है, लेकिन मुझे हमेशा मेरे स्किन के रंग के लिए ताने मारे गए। मेरे स्किन के रंग के कारण मुझे कई साल तक अपमानित किया गया। मैंने ऐसे दिन देखे हैं जब मुझे खाली पेट सोना पड़ता था और मैं रोते-रोते ही सो जाता था। वास्तव में, ऐसे भी दिन थे जब मुझे यह सोचना पड़ता था कि मुझे अगली बार खाने को मिलेगा या नहीं। मेरा अगला खाना क्या होगा और मैं कहां सोऊंगा? मैं फुटपाथ पर भी कई दिन सोया हूं।’


पढ़ें: इस तस्वीर में नजर आ रहा बच्चा आज है बॉलीवुड का बड़ा सुपरस्टार, 35 साल पहले इस फिल्म में आ चुके हैं नजर

मिथुन चक्रवर्ती ने बताया क्यों नहीं चाहते उन पर बने बायोपिक
मिथुन चक्रवर्ती ने यह भी कहा उनकी कहानी किसी को भी मानसिक रूप से तोड़ देगी और इसलिए नहीं चाहते कि कोई उनकी लाइफ पर बायोपिक बनाई जाए। वह बोले, ‘यही एकमात्र कारण है कि मैं नहीं चाहता कि मेरी बायोपिक कभी बने! मेरी कहानी कभी किसी को प्रेरित नहीं करेगी, यह उन्हें (मानसिक रूप से) तोड़ देगी और लोगों को उनके सपनों को हासिल करने से हतोत्साहित करेगी। मैं नहीं चाहता कि ऐसा हो। अगर मैं कर सकता हूं तो कोई और भी कर सकता है। मैंने इस इंडस्ट्री में खुद को साबित करने के लिए काफी संघर्ष किया है। मैं लेजेंड इसलिए नहीं हूं कि मैंने हिट फिल्में दी हैं, मैं लेजेंड इसलिए हूं क्योंकि मैंने अपने जीवन के सभी दर्द और संघर्षों को पार कर लिया है।’


मिथुन चक्रवर्ती ने 80 और 90 के दशक में कई हिट फिल्में दीं। उनका एक यूनीक डांस स्टाइल था, जिसकी वजह से भी वह खूब चर्चित रहे। मिथुन ने ‘डिस्को डांसर’, ‘वारदात’, ‘बॉक्सर’ और ‘अग्निपथ’ जैसी कई यादगार फिल्में दीं। मिथुन चक्रवर्ती अब जल्द ही ‘प्रजापति’ और ‘बाप’ में नजर आएंगे। हाल ही फिल्म ‘बाप’ का फर्स्ट लुक रिलीज किया गया था। इसमें मिथुन चक्रवर्ती के अलावा संजय दत्त, सनी देओल और जैकी श्रॉफ भी नजर आएंगे।