सीआईएससीई 10वीं रिजल्ट: बिहार में 100 फीसदी विद्यार्थी उत्तीर्ण, नेहा स्टेट टॉपर

0
126

सीआईएससीई 10वीं रिजल्ट: बिहार में 100 फीसदी विद्यार्थी उत्तीर्ण, नेहा स्टेट टॉपर

सीआईएससीई दसवीं बोर्ड का रिजल्ट रविवार को जारी हुआ। बिहार का रिजल्ट सौ फीसदी रहा। राज्य के दो विद्यार्थियों ने इस बार देशभर के टॉप तीन में जगह बनाई है। इनमें कार्मेल हाईस्कूल की नेहा 99.60 प्रतिशत (498) अंक के साथ देशभर में दूसरे स्थान पर रहीं। नेहा बिहार की टॉपर बनी हैं। वहीं उरसुलाइन कान्वेंट इंग्लिश मिडियम स्कूल पूर्णिया सिटी के छात्र ऋषभ कलानी ने देशभर में तीसरा स्थान प्राप्त किया है। ऋषभ कलानी को 99.40 प्रतिशन यानी 497 अंक प्राप्त हुए हैं। इस तरह नेहा ने बिहार में पहला और ऋषभ ने दूसरा स्थान प्राप्त किया है। तीसरे स्थान पर राज्य के तीन विद्यार्थी हैं। इसमें डॉनबास्को एकेडमी से उत्कर्ष, हरिओम श्री और कार्मेल हाईस्कूल की तनु किशोर शामिल हैं। इन तीनों को एक समान अंक 496 यानी 99.20 प्रतिशत प्राप्त हुए हैं।

इस परीक्षा में पूरे बिहार से 37 स्कूलों के 5313 परीक्षार्थी शामिल हुए। इनमें 2912 छात्र और 2401 छात्राएं शामिल थीं। सभी विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। झारखंड में 99.91 फीसदी छात्र उत्तीर्ण हुए। बोर्ड की मानें तो विशेष कोटि यानी एससी के 206 विद्यार्थी शामिल हुए थे। वहीं ओबीसी से 2023 विद्यार्थियों में सभी उत्तीर्ण हुए हैं। देशभर में 99.97 फीसदी छात्र पास हुए हैं। पूरे देश में बिहार का रिजल्ट बेहतर रहा है।

यह भी पढ़ें- ICSE 10वीं परीक्षा परिणाम में यूपी का परचम, 499 अंकों के साथ 3 छात्र इंडिया टॉपर

तय समय पर जारी हुआ रिजल्ट

बोर्ड ने पांच बजते ही रिजल्ट जारी किया। छात्रों की सुविधा के लिए एसएमएस के अलावा कॅरियर पोर्टल, डिजि लॉकर पर रिजल्ट जारी किया गया। इसके अलावा छात्रों ने बोर्ड की वेबसाइट http://www.cisce.org पर रिजल्ट सर्च किया।

Copy

एक साल बाद मेधा सूची हुई जारी

कोरोना संक्रमण के कारण दो साल परीक्षा बाधित रही। वर्ष 2020 में कई विषयों की परीक्षा नहीं हो सकी थी। इससे रिजल्ट आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर जारी किया गया। वहीं 2021 में औसत अंक के आधार पर रिजल्ट जारी हुआ था। इस वजह से मेधा सूची जारी नहीं की गई थी।

24 जुलाई तक पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन

बोर्ड की मानें तो जो छात्र अपने अंक से संतुष्ट नहीं हैं, वे 17 से 24 जुलाई तक पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए छात्रों को प्रति विषय एक हजार रुपये शुल्क देने होंगे।

सीआईएससीई सचिव, जेरी अरैथुन ने कहा कि चूंकि दो बार परीक्षाएं ली गयीं। रिजल्ट सेमेस्टर-1 और सेमेस्टर-2 को मिलाकर दिया गया है। अगर कोई छात्र को अपने अंक से असंतुष्ट है तो वह पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन कर सकता है। 

 

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News