सिटी स्कैन मशीन के इंतजार में ‘इलाज’ | super specialty | Patrika News

0
110

सिटी स्कैन मशीन के इंतजार में ‘इलाज’ | super specialty | Patrika News

सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में अभी मरीजों की एंजियोग्राफी व एंजियोप्लास्टी तो हो पा रही है, लेकिन अभी तक ओपन हार्ट सर्जरी शुरू नहीं हो सकी है। अस्पताल में सिटी स्कैन एमआरआई मशीन और विदेश से कार्डियक हार्ट एवं लंग मशीन नहीं आई है।

इंदौर

Published: July 30, 2022 07:45:31 pm

इंदौर. एमजीएम मेडिकल कालेज द्वारा संचालित सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में अभी मरीजों की एंजियोग्राफी व एंजियोप्लास्टी तो हो पा रही है, लेकिन अभी तक यहां पर ओपन हार्ट सर्जरी शुरू नहीं हो सकी है। जानकारों के मुताबिक अस्पताल में सिटी स्कैन एमआरआई मशीन और विदेश से कार्डियक हार्ट एवं लंग मशीन नहीं आई है। इसके आने के बाद ही सर्जरी शुरू हो पाएगी। वर्तमान में सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में एंजियोप्लास्टी व एंजियोग्राफी, यूरोलाजी, प्लास्टिक सर्जरी आदि की जा रही है। जल्द ही बोनमैरो ट्रांसप्लांट यूनिट भी शुरू होना है। वैसे तो अस्पताल में विशेषज्ञों समेत अन्य मशीनों की उपलब्धता है, लेकिन सिर्फ सिटी स्कैन व एमआरआई मशीन नहीं होने से मरीजों का अस्पताल में इलाज नहीं हो पा रहा है।
जांच के लिए मरीजों को भेजे एमवायएच: अस्पताल में मरीजों की सिटी स्कैन व एमआरआइ के लिए विशेष यूनिट तैयार होना है। इसके लिए भोपाल स्तर पर एजेंसी फाइनल कर सुविधा तैयार करने की योजना है। सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के मरीजों को सिटी स्कैन व एमआरआइ के लिए एमवायएच में संचालित निजी एजेंसी के एमआरआइ व सिटी स्कैन सेंटर पर भेजा जा रहा है।
मशीन आते ही शुरू होगी सर्जरी
अस्पताल में अभी तक इमरजेंसी यूनिट शुरू नहीं हो पाई है। इस कारण यहां मरीजों को सीधे भर्ती नहीं किया जा रहा है। केवल एमवाय अस्पताल से रैफर मरीजों को ही यहां भर्ती किया जा रहा है। सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में इमरजेंसी यूनिट शुरू करने की योजना है, लेकिन अभी तक यहां आकस्मिक चिकित्सा के उपकरण उपलब्ध नहीं होने के कारण इसकी प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई है।
ये उपकरण भी आना बाकी
अस्पताल में अभी सिटी स्कैन व एमआरआइ यूनिट लगनी बाकी है। इसके अलावा न्यूरो सर्जरी व कार्डियो सर्जरी यूनिट के उपकरण भी आने बाकी है। इन उपकरणों के आने के बाद ही यहां इमरजेंसी में आने वाले मरीजों को बेहतर उपचार दिया जा सकेगा। अभी एमवायएच की इमरजेंसी यूनिट में मरीज के पहुंचने के बाद जिसे सुपर स्पेशियलिटी में उपचार की जरूरत होती है उसे ही भेजा जाता है। अस्पताल में इमरजेंसी यूनिट तैयार होने के बाद यदि किसी मरीज को हार्ट अटैक, लकवे का अटैक या किडनी संबंधित परेशानी आती है तो वो मरीज यहां सीधे आएगा और उसका उपचार शुरू हो सकेगा।
&अस्पताल में सिटी स्कैन व एमआरआई मशीन की खरीदी की प्रक्रिया जारी है। संभवत: आगामी एक माह में प्रक्रिया पूरी होते ही मशीनों की स्थापना से संबंधित काम होना शुरू हो जाएगा। – डॉ. संजय दीक्षित, डीन, एमजीएम मेडिकल कॉलेज

Copy
newsletter

अगली खबर

right-arrow



उमध्यप्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Madhya Pradesh News