सतीश पूनिया के ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ बयान पर मंत्री खाचरियावास का पलटवार, ‘आटा-चावल पर टैक्स लगाने वाले देश के सगे नहीं’ | Minister Khachariyawas counter attacked on Satish Poonia’s statement | Patrika News

0
76

सतीश पूनिया के ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ बयान पर मंत्री खाचरियावास का पलटवार, ‘आटा-चावल पर टैक्स लगाने वाले देश के सगे नहीं’ | Minister Khachariyawas counter attacked on Satish Poonia’s statement | Patrika News

प्रताप सिंह खाचरियावास ने आज अपने आवास पर मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि कांग्रेस मुक्त भारत का सपना देखने वालों के सपने कभी पूरे नहीं होने वाले, क्योंकि कांग्रेस और इस देश का डीएनए एक है। कांग्रेस के मंच पर सभी धर्मों के लोग खड़े रहते हैं।

कांग्रेस का मंच देश के विकास को आगे बढ़ाने वाला होता है। प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि कांग्रेस के मंच पर धर्म और जाति का टकराव नहीं होता, हम तिरंगे को अपना धर्म मानते हैं, इसलिए इनके मंसूबे कभी कामयाब नहीं होंगे।

महंगाई-बेरोजगारी से ध्यान हटाने के लिए उछाले जाते हैं दूसरे मुद्दे
प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि आज देश में महंगाई और बेरोजगारी चरम पर है। खाद्य पदार्थों में भी 5 फ़ीसदी जीएसटी लगा दी है। आटा-चावल को भी हिंदू मुसलमान में बांटा जा रहा है। देश के लोग देख रहे हैं कि किस प्रकार से बीजेपी षड्यंत्र कर रही है, महंगाई और बेरोजगारी पर संसद में चर्चा नहीं होने देते और इन मुद्दों की चर्चा जनता में भी चर्चा नहीं हो इसलिए दूसरे मुद्दे उछाले जाते हैं।

प्रताप सिंह खाचरियावास ने राष्ट्रपति के अपमान पर बीजेपी के हंगामे को लेकर कहा कि राष्ट्रपति हमारा सम्मान है। पहली बार आदिवासी वर्ग से राष्ट्रपति बनी हैं, राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री , मुख्यमंत्री सबके लिए जान हाजिर है लेकिन बीजेपी इस मुद्दे पर बेवजह राजनीति कर रही है।

Copy

यह लोग इसलिए इन मुद्दों को उछालते हैं जिससे लोग महंगाई और बेरोजगारी पर चर्चा नहीं कर सके और यह आसानी से अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकते रहें।

पूरे देश में डर का माहौल
प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि बीजेपी ने पूरे देश में डर और नफरत का माहौल बना रखा है लेकिन अब जनता समझने लगी है और इनकी नफरत की फैक्ट्री ज्यादा दिन चलने वाली नहीं है। राजस्थान में उपचुनावों में बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा। वल्लभनगर में इनकी जमानत जब्त हुई। धरियावद में इनका प्रत्याशी तीसरे नंबर पर रहा।

सुप्रीम कोर्ट के अधीन हो ईडी
वहीं सुप्रीम कोर्ट द्वारा ईडी के अधिकार बरकरार रखने पर प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया है, जिसमें के अधिकार बरकरार रखे गए हैं। ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स केंद्र की जांच एजेंसियां हैं। ईडी अगर इतनी ही इमानदार है तो उसे सुप्रीम कोर्ट के अधीन लाना चाहिए।

किसी मंत्रालय के अधीन नहीं, जब तक ईडी मंत्रालय के अधीन रहेगी तो उसकी निष्पक्षता पर सवाल उठते रहेंगे। ईडी जूडिशरी पावर दे दी गई है जो कि सही नहीं है। सुप्रीम कोर्ट से मांग है कि अगर ईडी और सीबीआई के काम की मॉनिटरिंग की जाए तो सच सामने आ सकता है।



राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News