सचिन पायलट के साथ जो MLA थे, उन्हें मंत्री बनाया, गुढ़ा ने ‘गद्दार’ के सवाल पर गहलोत को घेरा

0
97

सचिन पायलट के साथ जो MLA थे, उन्हें मंत्री बनाया, गुढ़ा ने ‘गद्दार’ के सवाल पर गहलोत को घेरा

जयपुर: गहलोत गुट से बाहर निकलकर सचिन पायलट के समर्थक बने राजेंद्र गुढ़ा ने सीएम के बयानों का पलटवार किया है। राजेंद्र गुढ़ा ने कहा कि सचिन पायलट वीर अभिमन्यु की तरह घिरे हुए हैं। लेकिन वह जानते हैं कि चक्रव्यूह को कैसे भेदना है। राजेंद्र गुढ़ा ने गहलोत के उस बयान पर भी कटाक्ष किया है, जिसमें उन्होंने सचिन पायलट को गद्दार करार दिया है। आलाकमान सचिन पायलट को कभी भी राजस्थान का सीएम नहीं बनाएगा, इस सवाल के जवाब में राजेंद्र गुढ़ा ने कहा कि मैं यह पूछना चाह रहा हूं कि सियासी संकट के दौरान जो लोग सचिन जी के साथ थे, उनमें से पांच लोगों को हम मंत्री बना चुके हैं। वो सरकार में कैबिनेट का हिस्सा हैं, मंत्री परिषद का हिस्सा हैं।

गुढ़ा ने कहा कि यदि ये बात सही है कि आलाकमान ऐसे किसी भी व्यक्ति को कभी मुख्यमंत्री नहीं बनाएगा कि जिसने सरकार गिराने की कोशिश की हो, तो यह बात सीएम साहब को क्लीयर कर देनी चाहिए कि ये जो लोग है, जिन्होंने 10-10 करोड़ लिए हैं, उन्हें सरकार में मंत्री बनाकर क्यों बैठा रखा है। गुढ़ा ने आगे कहा कि सीएम सचिन पायलट को नकारा, निक्कमा और गद्दार बोलते रहते हैं, लेकिन मैं यह जानना चाह रहा हूं कि इस पूरे सिस्टम में यह बात को तभी क्लीयर हो जाती कि जब पायलट के समर्थक रमेश मीणा, मुरारीलाल मीणा और विश्वेंद्र सिंह गुढ़ा को मंत्री नहीं बनाते तो। मानेसर एपिसोड में जो लोग शामिल थे, उन्हें तो हमारी सरकार मंत्री बना चुकी है, जिन्होंने अमित शाह से पैसा लिया उन्हें मंत्री बनाया गया , तो सीएम साहब से पूछना चाहिए कि उन्हें मंत्री क्यों बनाया गया।

पायलट पर कौन-सा ‘गोला’ घुमा रहे गहलोत? मंत्री बनाने से गद्दार तक, जानिए सबकुछ
मंत्रिमण्डल विस्तार के समय सीएम ने कहा था कि हम सोनिया जी की बात नहीं टाल सकते
गुढ़ा ने कहा कि सचिन पायलट को लेकर जो बात की जा रही है। वो स्टैंड गहलोत साहब तभी ले लेते , जब मंत्रिमण्डल विस्तार हुआ था, तो मेरे सहित बसपा से आए विधायक जो गहलोत साहब के साथ उस समय रहे, तो उनके साथ न्याय हो जाता । गुढ़ा ने कहा कि जब मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चर्चा हुई , तब गहलोत साहब ने कहा था कि हम सोनिया गांधी जी की बात को नहीं टाल सकते।

सचिन पायलट के समर्थन में 80 प्रतिशत विधायक
गुढ़ा ने कहा कि सरकार क्या संदेश देना चाहती है, यह समझना मुश्किल हैं। सरदारशहर में दिवगंत विधायक भंवरलाल शर्मा के बेटे को टिकिट दिया गया है। वह भी सचिन पायलट के साथ थे। ऐसे में सीएम गहलोत का बयान बेबुनियाद है। एक तरफ यह आरोप लगाया जा रहा है कि सचिन पायलट के साथ जो विधायक है, उन्होंने 10-10 करोड़ लिए, वो गद्दार हैं। उन्हीं लोगों को मंत्री बनाया जा रहा है। गुढ़ा ने कहा कि सीएम गहलोत ने जो माफी मांगी , वो जुलाई में शांति धारीवाल ने जो धोखा किया, उसकी वजह से मांगी है।

navbharat times -‘गद्दार’ को कैसे बनाया जा सकता है CM, कांग्रेस आलाकमान ऐसा करेगा ही नहीं , अशोक गहलोत का पायलट पर फिर सीधा अटैक

राजस्थान में जो कांग्रेस के विधायक हैं, वो आलाकमान के लॉयल है। कांग्रेस ने टिकिट दिया, तो वो विधायक और मंत्री बने हैं। मेरा कहना है कि कोई किसी के साथ नहीं है, जो आलाकमान फैसला करेगा, सभी विधायक उसे मानेंगे और अभी 80 प्रतिशत विधायक सचिन पायलट के साथ हैं।

राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News