शैक्षिक समस्याओं के समाधान के लिए एबीवीपी जारी करेगी हेल्पलाइन नम्बर

192

शैक्षिक समस्याओं के समाधान के लिए एबीवीपी जारी करेगी हेल्पलाइन नम्बर

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने अपने दो दिवसीय लखनऊ प्रवास के अंतर्गत पत्रकार वार्ता की।

लखनऊ ,राष्ट्रीय महामंत्री ने राष्ट्रीय शैक्षणिक व सामाजिक विषयों पर विद्यार्थी परिषद के मंतव्य को स्पष्ट किया। राष्ट्रीय महामंत्री ने वार्ता में बताया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री को ज्ञापन देते हुए कहा कि जिन छात्रों ने कोवैक्शीन की डोज ली है एवं विदेश में पढ़ रहे हैं लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन की गाइडलाइन के कारण वापस शिक्षा ग्रहण करने नहीं जा पा रहे। ऐसे विद्यार्थियों की शिक्षा की वैकल्पिक व्यवस्था की जाये। ऐसे ही प्रधानमंत्री को ज्ञापन देते हुए सिविल सेवा में एक अतिरिक्त प्रयास देने की मांग की गयी। राष्ट्रीय महामंत्री ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने पूरे देश में कोरोना की दूसरी लहर की विभीषिका में भी सेवा कार्य किए।

विद्यार्थी परिषद कार्यकर्ताओं ने हेल्पलाइन पर आ रही कॉल के समाधान से लेकर सेवा बस्ती व गांव में स्क्रीनिंग,मिशन आरोग्य रक्षक और मिशन संजीवनी जैसे अभियान के माध्यम से व्यापक स्तर पर ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करने वाले सुविधा से दूर परिवारों से संपर्क कर उनकी स्क्रीनिंग कर उन्हें मेडिकल किट वितरित की । उन्होंने बताया कि कोरोना की दूसरी लहर में विभिन्न शैक्षणिक विषयों पर विद्यार्थियों के असमंजस को दूर करने में भी विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने समय समय पर जिम्मेदार लोगों से मिलकर समस्याओं के समाधान का प्रयास किया। विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता वर्तमान की शैक्षणिक समस्याओं को दृष्टिगत रखते हुए विश्व विद्यालयों में हेल्पलाइन नंबर जारी कर छात्र समस्याओं के समाधान के लिए लगे हुए हैं ।

अवध प्रांत के लखनऊ विश्वविद्यालय व अवध विश्वविद्यालय में कार्यकर्ताओं ने कोरोना से मृत लोगों के ऐसे पाल्य जो विश्वविद्यालय में अध्ययन कर रहे हैं उनकी निशुल्क शिक्षा के लिए व जनजाति छात्राओं को उच्च शिक्षा में प्रोत्साहन हेतु निशुल्क प्रवेश व निशुल्क छात्रावास उपलब्ध कराने के लिए कुलपति से मिलकर अपना मांग पत्र दिया है । अवध प्रांत में सभी शैक्षणिक संस्थानों कि समस्याओं के समाधान के लिए विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं का हेल्पलाइन नंबर जारी होना तय हुआ है। प्रान्त मंत्री अंकित शुक्ला ने बताया कि अवध प्रांत के कार्यकर्ताओं ने स्क्रीनिंग अभियान के अंतर्गत मिशन संजीवनी अभियान में 15 जिलों में 2270 गांवों में 671 कार्यकर्ताओं की 138 टोलियों के माध्यम से 19,805 परिवारों में स्क्रीनिंग की और 63,203 लोगों की स्क्रीनिंग कर 6269 मेडिकल किट का वितरण किया गया ।






Show More





















उत्तर प्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Uttar Pradesh News