शुभमन गिल ही नहीं, KKR छोड़ते ही चमकी इन 2 की भी किस्मत, मचा रहे बल्ले से गदर

19
शुभमन गिल ही नहीं, KKR छोड़ते ही चमकी इन 2 की भी किस्मत, मचा रहे बल्ले से गदर


शुभमन गिल ही नहीं, KKR छोड़ते ही चमकी इन 2 की भी किस्मत, मचा रहे बल्ले से गदर

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट में ओपनर शुभमन गिल और टॉप ऑर्डर बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव ने हाल फिलहाल में अलग ही मुकाम हासिल कर लिया है। गिल ने वनडे में कोहराम मचाने के बाद टी-20 में भी तूफान मचाया और सबसे बड़ा स्कोर बनाने का भारतीय रिकॉर्ड कायम किया। दूसरी ओर, सूर्या सभी के चहेते बने हुए हैं और टी-20 रैंकिंग में नंबर वन हैं। ये दोनों ही कभी इंडियन प्रीमियर लीग की की फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) का हिस्सा थे।

पिछले कुछ वर्षों में केकेआर ने कुछ युवा प्रतिभाओं को आगे बढ़ाने में बड़ी भूमिका निभाई है। कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए प्रभावित करने के बाद वेंकटेश अय्यर, कुलदीप यादव, प्रसिद्ध कृष्णा, नीतीश राणा और अन्य जैसे खिलाड़ियों ने भारतीय टीम में जगह बनाई थी। यहां तक कि रॉबिन उथप्पा, लक्ष्मीपति बालाजी और उमेश यादव जैसे अनुभवी खिलाड़ियों ने कोलकाता के लिए अच्छा प्रदर्शन करने के बाद भारतीय टीम में वापसी की।

Exclusive: जब MS Dhoni के बयान से हर्षा भोगले की लाइफ में मच गई थी खलबली

आईपीएल में केकेआर का प्रतिनिधित्व करना कई खिलाड़ियों का सपना होता है, लेकिन कुछ खिलाड़ी ऐसे भी रहे हैं जिनका करियर फ्रेंचाइजी छोड़ने के बाद परवान चढ़ा। यह अपने आप में रोचक बात।

ओपनर शुभमन गिल तीनों फॉर्मेट में ओपनर
शुभमन गिल अपनी U-19 विश्व कप 2018 की जीत के बाद कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए आईपीएल में डेब्यू किया। युवा भारतीय बल्लेबाज ने कोलकाता के लिए चार सीजन खेले। उन्होंने 55 पारियों में 123 की स्ट्राइक रेट से 1,147 रन बनाए। केकेआर ने 2022 के आईपीएल सीजन से पहले गिल को रिटेन नहीं किया था। वह गुजरात टाइटंस में चले गए और अहमदाबाद स्थित फ्रेंचाइजी के लिए मैच विजेता बन गए। गिल ने GT के लिए 16 मैचों में 483 रन बनाए हैं। उन्होंने उन प्रदर्शनों से आत्मविश्वास हासिल किया और अभी तीनों प्रारूपों में भारतीय क्रिकेट में शीर्ष सलामी बल्लेबाजों में से हैं।

SKY सूर्यकुमार यादव विश्व पटल पर छाए
सूर्यकुमार यादव को पहली बार आईपीएल में मुंबई इंडियंस ने साइन किया था, लेकिन रिकॉर्ड चैंपियन के साथ अपने पहले कार्यकाल में वह ज्यादा प्रभावित नहीं कर सके। कोलकाता नाइटराइडर्स ने उन्हें 2014 में साइन किया और फिनिशर के रूप में आजमाया। यादव ने टीम के लिए शानदार प्रदर्शन करते हुए 41 पारियों में 131.89 की स्ट्राइक रेट से 608 रन बनाए। यादव ने खुद को केकेआर के लिए एक मैच विजेता के रूप में स्थापित किया, लेकिन वह अभी भी पहली बार राष्ट्रीय कॉल-अप से बहुत दूर थे। वह 2018 में मुंबई इंडियंस में लौटे और फ्रेंचाइजी के लिए शीर्ष क्रम के बल्लेबाज के रूप में खेले। 2018 से 2020 तक MI के लिए ढेर सारे रन बनाने के बाद यादव ने आखिरकार 2021 में इंग्लैंड के खिलाफ अपना T20I डेब्यू किया।

KKR छोड़ने के बाद राहुल त्रिपाठी का डेब्यू
आईपीएल 2017 में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के लिए अच्छा प्रदर्शन करने के बाद राहुल त्रिपाठी सुर्खियों में आए थे। हालांकि 2018 में उनके करियर में उतार-चढ़ाव देखने को मिला। वह राजस्थान रॉयल्स के लिए लगातार प्रदर्शन नहीं कर सके। आरआर के साथ दो असमान सीजन के बाद त्रिपाठी 2020 सीजन के लिए कोलकाता नाइटराइडर्स में चले गए। सूर्यकुमार यादव की तरह केकेआर में जाने से त्रिपाठी का करियर बदल गया। उन्होंने कोलकाता के लिए 27 पारियां खेलीं, जिसमें 135.13 की स्ट्राइक रेट से 627 रन बनाए। हालांकि, कोलकाता ने उन्हें 2022 सीजन के लिए रिटेन नहीं किया था। सनराइजर्स हैदराबाद ने उन्हें अगली बार साइन किया। यहां त्रिपाठी ने आईपीएल 2022 में SRH के लिए 14 मैच खेले, जिसमें 37.55 के औसत और 155 से अधिक के स्ट्राइक रेट से 413 रन बनाए। उन्होंने इस साल की शुरुआत में श्रीलंका के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया।
IND vs NZ: दोस्त दोस्त न रहा… ईशान किशन की धज्जियां उड़ाते ट्वीट को भारतीय क्रिकेटर ने किया लाइकnavbharat times -IND vs NZ 3rd T20: यूं ही नहीं कहते हैं कुंग फू पांडा… धोनी, कोहली और रोहित जो नहीं कर सके उसे Hardik Pandya ने कर दिखायाnavbharat times -India vs New Zealand Stats: पाकिस्तान की बादशाहत खत्म! भारत ने चकनाचूर किया सबसे बड़ा रिकॉर्ड, मैच की 6 खास बातें



Source link