‘शमशेरा’ में एक्शन सीक्वेंस के लिए बनानी पड़ी 400 फीट लंबी ट्रेन, पर्दे पर कभी नहीं दिखा कुछ ऐसा

0
134


‘शमशेरा’ में एक्शन सीक्वेंस के लिए बनानी पड़ी 400 फीट लंबी ट्रेन, पर्दे पर कभी नहीं दिखा कुछ ऐसा

एक्शन एंटरटेनर ‘शमशेरा’ में सुपरस्टार रणबीर कपूर अपने करियर में पहली बार एक लार्जर दैन लाइफ हिंदी फिल्म हीरो की भूमिका निभा रहे हैं। ब्लॉकबस्टर संजू देने के चार साल बाद बड़े पर्दे पर वापसी कर रहे हैं। रणबीर शमशेरा की कास्टिंग काउप को लेकर एक्साइटेड हैं, जिसमें वे संजय दत्त के विरोध में खड़े होते हैं। संजय फिल्म में बहुत ही बुरे, खतरनाक, क्रूर और खून जमा देने वाले हिंसक शुद्ध सिंह का किरदार निभा रहे हैं। बड़े पर्दे पर संजय दत्त बनाम रणबीर कपूर की भिड़ंत क्लैश ऑफ द इयर होने जा रही है। फिल्म के निर्देशक करण मल्होत्रा ने फिल्म के लिए अनोखे एक्शन सेट पीसेज गढ़े हैं जो दर्शकों को आश्चर्यचकित कर देंगे। ऐसा ही एक मैसिव एक्शन सीक्वेंस है ट्रेन सीक्वेंस, जिसमें रणबीर एक्शन करते हुए नजर आते हैं। एक ऐसा सीन जिसके लिए करण को सन 1800 के दशक की 400 फुट की ट्रेन को बनाना पड़ा।

कुछ ऐसा करना चाहते थे करण
इस बारे में करण (Karan Malhotra) ने कहा, ‘हमारे सेट डिज़ाइन से लेकर एक्शन सेट तक, सब कुछ इसके लिए तैयार किया गया था कि शमशेरा (Shamshera) दर्शकों को एक गजब का सीन दिखाए। हालांकि, हम क्लियर थे कि हमने जो कुछ भी किया, वह ऐसा दिखाना था जैसे यह लगना चाहिए कि ये फिल्म का सेट नहीं है।’

400 फिट की ट्रेन की खासियत
उन्होंने आगे कहा, ‘ऐसा ही एक जीवन से बड़ा एक्शन सीक्वेंस एक ट्रेन में होता है। चुनौतियां थीं क्योंकि 1800 के दशक से ट्रेन मिलना संभव नहीं था। तो, हमने उस सीक्वेंस के लिए लगभग 400 फुट की ट्रेन बनाई। यह एक बहुत बड़ा काम था। मैं शमशेरा के प्रोडक्शन डिज़ाइन और VFX आर्म टीम को इतनी बड़ी जिम्मेदारी लेने और इसे इतनी शानदार ढंग से बनाने के लिए बधाई देता हूं। इस ट्रेन को बनाने में लगभग एक महीने का समय लगा। मेरे लिए मुझे ट्रेन में एक बड़ा एक्शन सीक्वेंस करना था। मुझे कुछ ऐसा दिखाना था जो पर्दे पर कभी नहीं दिखा।’

रणबीर का जन्म एक्शन के लिए हुआ
वह आगे कहते हैं, ‘मैं इसे एक बार में करना चाहता था ताकि दर्शकों को एड्रेनालाईन की भीड़ महसूस हो, जबकि इसे देखते हुए यह उनके लिए शानदार होगा। इस सीन को करने के लिए रणबीर को क्रेडिट जाता है। मुझे याद है कि इसे शूट करने के बाद मैंने उनसे कहा था कि उनका जन्म एक्शन फिल्में करने के लिए हुआ था। आपको यह समझने के लिए फिल्म देखनी होगी कि उन्होंने शमशेरा में एक एक्शन हीरो के रूप में क्या किया है।’

Copy

‘शमशेरा’ की कहानी
‘शमशेरा’ की कहानी काज़ा शहर में सेट की गई है, जहां एक योद्धा जनजाति को शुद्ध सिंह नाम का एक क्रूर सत्तावादी जनरल कैद कर लेता है। यह एक ऐसे इंसान की कहानी है जो गुलाम बन गया, एक गुलाम जो नेता बन गया और फिर अपने कबीले का राजा बन गया। वह अपने कबीले की आजादी और सम्मान के लिए अथक संघर्ष करता है। करण मल्होत्रा की निर्देशित यह फिल्म 22 जुलाई 2022 को हिंदी, तमिल और तेलुगु में रिलीज होने वाली है।



Source link