वर्ल्ड क्लास स्टेशन का स्वरूप देने को गया जंक्शन पर कार्य शुरू, 2025 तक पूरा करने का लक्ष्य

0
25

वर्ल्ड क्लास स्टेशन का स्वरूप देने को गया जंक्शन पर कार्य शुरू, 2025 तक पूरा करने का लक्ष्य

गया जंक्शन को वर्ल्ड क्लास स्टेशन का स्वरूप देने का कार्य शुरू किया जा रहा है। निर्माण कार्य के लिए गया जंक्शन पर प्रोजेक्ट प्लांट भी लगाया जा रहा है। साथ ही निर्माण कार्य मे लगने वाले उपकरणों को भी लाया गया है। वर्ष 2025 तक निर्माण कार्य पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। वर्ल्ड क्लास स्टेशन भवन निर्माण से जुड़े लोगो के लिए विभागीय ऑफिस बनाकर तैयार किया गया है। पुनर्विकास योजना के तहत गया जंक्शन पर यात्रियों को एयरपोर्ट जैसी सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर कार्य के लिए विभागीय स्तर पर कवायत तेज कर दिया गया है। कार्य शुरू करने को लेकर विभागीय अधिकारियों की टीम कैम्प करने लगे है। आर्टिकेट के आते ही भवन निर्माण से सम्बंधित कार्रवाई तेज कर दी जाएगी। आरएमएस व रेल न्यायाल को दूसरे स्थान पर शिफ्ट करने के लिए नए भवन का निर्माण शुरू किया गया है। डेल्हा साइड में बनाये जा रहे भवन को अब वर्ल्ड क्लास स्टेशन कार्य मे शामिल कर लिया गया है।

वर्ष 2065 के अनुमानित यात्रियों की संख्या को आधार के तहत पुनर्विकास

गया जंक्शन का पुनर्विकास योजना के तहत वर्ष 2065 के अनुमानित यात्रियों की संख्या को आधार मानकर कार्य किया जाना हैं। रेल यात्रियों के लिए आगमन व प्रस्थान की अलग-अलग व्यवस्था होगी। स्टेशन पर एक्सेस कंट्रोल गेट व प्रत्येक प्लेटफार्म पर एस्केलेटर और लिफ्ट लगाये जायेंगे। खान-पान, वॉशरूम, पीने का पानी, एटीएम, इंटरनेट आदि शामिल होंगे। रेलवे के जमीन पर मॉल और मल्टीपर्पज बिल्डिंग बनाया जाएगा।

पुनर्विकास योजना के तहत गया जंक्शन पर एयरपोर्ट जैसी विश्वस्तरीय सुविधाएं

रेलवे ने पुनर्विकास योजना के तहत गया जंक्शन पर यात्रियों को एयरपोर्ट जैसी विश्वस्तरीय सुविधाएं प्राप्त होगी। गया जंक्शन के पुनर्विकास पर करीब 250 करोड़ रूपए खर्च की जाएगी। वर्ल्ड क्लास स्टेशन बनाने के लिए सबसे पहले गया जंक्शन के मुख्य द्वार को बनाया जायेगा। इसके लिए रेलवे ने पहल शुरू कर दी है।

गया जंक्शन पर व इसके आस-पास पर्यटक सुविधाओं का किया जायेगा विकास

गया जंक्शन पर व इसके आस-पास पर्यटक सुविधाओं को विकसित किया जायेगा। इससे पर्यटकों की संख्या में वृद्धि होगी तथा इसका लाभ स्थानीय लोगों को भी प्राप्त होगा। गया जिले सहित मगध प्रमंडल के नवादा, औरंगाबाद, अरवल, जहानाबाद सहित नालंदा जिला क्षेत्र के धरोहरों, ऐतिहासिक स्थलों, महत्वपूर्ण धार्मिक केंद्रों, पर्यटन क्षेत्रो का विकसित करने की योजना है।

सौ साल पुराने भवन को ध्वस्त कर ग्रीन विल्डिंग के तर्ज पर स्ट्रक्चर का होगा निर्माण

गया जंक्शन को पुनर्विकास को लेकर सौ साल से अधिक पुरानी बिल्डिंग को ध्वस्त कर ग्रीन बिल्डिंग की तर्ज पर स्ट्रक्चर का निर्माण किया जायेगा। इसके लिए मापी का काम पूरा कर लिया गया है। इसमें वेंटिलेशन व एयर फ्लो व अन्य की आधुनिक सुविधा उपलब्ध होगी। पार्किंग एरिया को मल्टीस्टोरी पार्किंग बनाया जाएगा। करीब तीन साल पहले रेलवे बोर्ड ने गया को विश्वस्तरीय स्टेशन का दर्जा उपलब्ध कराने की दिशा में ठोस निर्णय लिया था।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News