लग सकता है भारी जाम,सोनिया गांधी की ईडी दफ्तर में पेशी, दिल्ली से होकर बड़ी संख्या में घर लौटेंगे कांवड़िए, निकलने से पहले देख लीजिए रूट

0
102

लग सकता है भारी जाम,सोनिया गांधी की ईडी दफ्तर में पेशी, दिल्ली से होकर बड़ी संख्या में घर लौटेंगे कांवड़िए, निकलने से पहले देख लीजिए रूट

नई दिल्ली: कावंड़िए मंगलवार को राजधानी दिल्ली से होते हुए अपने मूल स्थानों में पर लौटने के कारण मध्य, पूर्वी, पूर्वोत्तर दिल्ली और इसकी सीमाओं पर मुख्य मार्गों पर यातायात जाम की स्थिति पैदा हो सकती है। मध्य दिल्ली में भी यातायात के कांग्रेस नेता सोनिया गांधी की प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से पूछताछ करने के कारण प्रभावित रहने की संभावना है। ईडी उनसे नेशनल हेराल्ड से संबंधित धनशोधन मामले में पूछताछ कर रही है।

कांवड़ यात्रा 14 जुलाई को प्रारंभ हुई थी जिसका समापन 26 जुलाई को होगा। इसे ध्यान में रखते हुए पुलिस ने दिल्ली की सीमाओं तथा अन्य क्षेत्रों में अपनी यातायात इकाई तथा नगर निकायों के साथ मिलकर विशेष इंतजाम किये हैं। पुलिस ने कहा कि वर्तमान संसद सत्र के मद्देनजर किसी भी स्थिति से निपटने के लिए समुचित सुरक्षा एवं यातायात इंतजाम किये गये हैं।

दिल्ली पुलिस ने कर रखें हैं इंतजाम
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि जब से कांवड़ यात्रा शुरू हुई है तब से ही शाहदरा जिले में समुचित एवं पर्याप्त प्रबंध किये गये हैं तथा मंगलवार से कावंड़िये अपने मूल स्थानों पर लौटेंगे इसलिए उनके मार्गों पर कर्मी पहले ही तैनात कर दिये गये हैं। उन्होंने कहा, ‘हमारे जिले में कांवड़ियों में ज्यादातर के अप्सरा बॉर्डर से लौटने की संभावना हैं , इसलिए वहां भारी तैनाती की गई है तथा अतिरिक्त पुलिस चौकियां लगाई गई हैं। जहां जहां वे मंदिरों में जल अर्पित कर सकते हैं, उनका भी ध्यान रखा जा रहा है।’

अप्रिय घटना न घटे इसलिए पुलिस ने की है यह खास तैयारी
कांवड़ यात्रा के तहत कावंड़िये उत्तराखंड के हरिद्वार में गंगा से पानी लेते हैं और लौटकर अपने शिव मंदिरों में जल चढ़ाते हैं। एक अन्य पुलिस अधिकारी ने कहा कि पूर्वोत्तर दिल्ली में सोमवार से ही कांवड़ियों की संख्या बहुत बढ़ गई है क्योंकि कल वे घर लौटने के बाद शिवमंदिरों में जल चढ़ायेंगे। उन्होंने कहा, ‘हमने उन मार्गों को मजबूत किया है जिनसे कावंड़ियां गुजर रहे हैं, उत्तर प्रदेश से आने वाले जीटी रोड तथा वजीराबाद से आ रही सड़कों पर अतिरिक्त सुरक्षाबल तैनात किया गया है । हमने इन सड़कों पर पर अपना प्रबंध मजबूत कर दिया है। इन सड़कों पर हर चौराहे पर पुलिस अधिकारी तैनात हैं।’ अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने सहयोग के लिए भाईचारा समिति, अमन समिति और अन्य नागरिकों एवं नगर निकायों से संपर्क साधा है ताकि कोई अप्रिय घटना न घटे।

पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘हमने चीजों पर नजर रखने के लिए गश्त बढ़ा दी है और ड्रोन का इस्तेमाल भी कर रहे हैं। सभी वरिष्ठ अधिकारी एवं अन्य को चौकस रहने का निर्देश दिया गया है । अप्सरा बॉर्डर और भोपुरा बॉर्डर से बड़ी आवाजाही की संभावना है। जोहरीपुर रोड से हल्की आवाजाही की उम्मीद है।’ उन्होंने कहा कि पुलिस ने जिले में शिव मंदिरों के आसपास अपने कर्मियों की तैनाती कर वहां भी इंतजाम किये हैं। उन्होंने कहा, ‘हम यातायात इकाई के साथ लगातार समन्वय कर रहे हैं जिनके कर्मियों को पहले से ही चौराहों एवं मुख्य मार्गों पर तैनात किया गया है , ऐसे मार्गों पर भारी भीड़ होने की संभावना है।’

Copy

जाम को रोकने के लिए पूरा इंतजाम
पुलिस ने कहा कि वैसे तो कांवड़िये पिछले कुछ दिनों से ही शहर में आ रहे हैं लेकिन मंगलवार से उनकी संख्या बढ़ने की संभावना है। ऐसे में पूर्वी एवं बाहरी दिल्ली में कुछ सड़कों पर यातायात प्रभावित रह सकता है , इसलिए जाम को रोकने के लिए समुचित इंतजाम किये गये हैं। अधिकारियों के अनुसार यातायात को सुचारू रखने के लिए 1925 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है तथा कांवड़ियों वाले मार्गों पर 56 क्रेन और मोटरसाइकिल भी रहेंगी।

बयान के अनुसार श्रद्धालुओं के अप्सरा बॉर्डर, शाहदरा फ्लाईओवर, सीलमपुर, आईएसबीटी फ्लाईओवर, बोलेवार्ड रोड, रानी झांसी रोड, फैज रोड, ऊपरी रिज रोड, धौलाकुंआ, राष्ट्रीय राजमार्ग आठ से लौटने तथा राजोकरी बोर्डर से हरियाणा जाने की संभावना है। बयान के अनुसार वजीराबाद रोड, वजीराबाद ब्रिज, बाहरी रिंग रोड, मुकरबा चौक, राष्ट्रीय राजमार्ग एक से भी श्रद्धालुओं के आने तथा सिंघू बॉर्डर, अथवा मधुबन चौक, पीरागढ़ी तथा टिकरी बॉर्डर से हरियाणा जाने की संभावना है। वे महाराजपुर बॉर्डर, रोड नंबर 56, गाजीपुर बॉर्डर, रिंग रोड, मथुरा रोड, बदरपुर बॉर्डर भी ले सकते हैं।

दिल्ली की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News

Source link