राहुल वैष्णो देवी के दरबार में, इंदिरा की वायरल हो गई गुफा वाली फोटो, क्‍या दादी की तरह पूरी होगी मन्‍नत?

0
120


राहुल वैष्णो देवी के दरबार में, इंदिरा की वायरल हो गई गुफा वाली फोटो, क्‍या दादी की तरह पूरी होगी मन्‍नत?

नई दिल्‍ली
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को जम्‍मू में माता वैष्णो देवी के दर्शन करने पहुंचे। राहुल वहां शाम के समय होने वाली विशेष आरती में भी भाग लेंगे। कटरा से वह पैदल चलकर वैष्णो देवी मंदिर पहुंचे। इस बीच राहुल की दादी व पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की एक तस्‍वीर वायरल हो रही है। इसमें माता के दर्शन कर इंदिरा पवित्र गुफा से निकलती दिख रही हैं। उन्‍होंने माथे पर माता की चुनरी बांध रखी है।

बताया जाता है कि इंदिरा गांधी की यह तस्‍वीर 1970 की है। इसके पहले भी यह तस्‍वीर सोशल मीडिया पर कई बार वायरल हो चुकी है। कुछ साल पहले जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वैष्‍णो देवी मंदिर पहुंचे थे, तब भी इंदिरा गांधी की पवित्र मंदिर की गुफा से निकलने वाली तस्‍वीर सामने आई थी। इंदिरा उस वक्‍त देश की प्रधानमंत्री थीं।

मन्‍नत हुई थी पूरी, बन गई थीं ‘इंडिया इज इंदिरा…’
यह वह दौर था जब इंदिरा गांधी बेहद पावरफुल हो गई थीं। कई कांग्रेस समर्थक यहां तक कहने लगे थे ‘इंदिरा इज इंडिया एंड इंडिया इज इंदिरा’। इंदिरा गांधी ने इसी समय कांग्रेस में दोफाड़ की थी और प्रधानमंत्री बन गई थीं। उसी दौर में इंदिरा ने बैंकों का राष्‍ट्रीयकरण किया था और पूर्व राजा-महाराजाओं को मिलने वाले तमाम वित्‍तीय लाभों पर रोक लगा दी थी। उनकी छवि गरीबों की मसीहा वाली बन गई थी। 1971 का चुनाव उन्‍होंने ‘गरीबी हटाओ’ नारे के साथ लड़ा था। उन्हें लोगों का भरपूर समर्थन मिला था। इंदिरा के पक्ष में लोगों ने भर-भरकर वोट दिए थे। तब इंदिरा ने जोरदार बहुमत से चुनाव जीता था। इस तरह माता ने उनकी मन्‍नत पूरी की। उन्‍होंने ‘गूंगी गुड़‍िया’ की छवि तोड़ते हुए बड़े-बड़े कद्दावरों को धूल चटा दी थी। उनके मुंह से निकला हुआ शब्‍द पत्थर की लकीर बन जाता था। यह वह दौर था जब इंदिरा भारतीय अवाम के दिलो-दिमाग पर राज करने लगी थीं।

क्‍या मिलेगा माता का आशीर्वाद?
राहुल गांधी भी माता का आशीर्वाद लेने जम्‍मू पहुंचे हैं। उनका दो दिवसीय दौरा ऐसे समय हो रहा है जब अगले साल यूपी और पंजाब समेत कई महत्‍वपूर्ण राज्‍यों में चुनाव हैं। फिर 2024 में लोकसभा चुनाव हैं। राहुल गांधी का मंदिरों का दौरा हाल के दिनों में हमेशा चर्चा का विषय बना है। बीते दिनों राहुल जम्मू-कश्मीर के अपने दौरे पर खीर भवानी मंदिर गए थे और वहां माथा टेका था। गुजरात चुनाव के दौरान वह सोमनाथ मंदिर गए थे।

सिर्फ प्रार्थना करने आया हूं
वैष्‍णो देवी मंदिर पहुंचने पर जब राहुल से आने का कारण पूछा गया तो उन्‍होंने साफ शब्‍दों में कहा कि वह माता के दर्शन और प्रार्थना करने पहुंचे हैं। वहां वह कोई राजनीतिक टिप्‍पणी नहीं करेंगे। बताया गया है कि राहुल गांधी मंदिर परिसर में कुछ समय बिताएंगे। उनकी लद्दाख जाने की भी योजना है। जम्‍मू-कश्‍मीर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रेसीडेंट गुलाम अहमद मीर ने बताया कि वायनाड से सांसद राहुल की माता वैष्‍णो देवी में खास आस्‍था है। राहुल गांधी कई साल से वैष्‍णो देवी मंदिर आना चाहते थे। खैर, अब देखना यह होगा कि राहुल गांधी की मन्‍नत माता सुनती हैं या नहीं।



Source link