राहुल द्रविड़ महान, लेकिन कभी मेरी गेंद को समझ नहीं पाए… दिग्गज ने सचिन के सामने किया दावा

6
राहुल द्रविड़ महान, लेकिन कभी मेरी गेंद को समझ नहीं पाए… दिग्गज ने सचिन के सामने किया दावा


राहुल द्रविड़ महान, लेकिन कभी मेरी गेंद को समझ नहीं पाए… दिग्गज ने सचिन के सामने किया दावा

नई दिल्ली: राहुल द्रविड़ आज भी टेस्ट क्रिकेट के सबसे बेहरीन बल्लेबाजों में गिने जाते हैं और न जाने कितने खिलाड़ी उन्हें एडमायर करते हैं। शोएब अख्तर जैसे तूफानी गेंदबाज भी उन्हें सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज के तौर पर आंकते हैं तो न जाने कितने बच्चे हैं, जो आज भी द्रविड़ के वीडियो देखकर बैटिंग सीखते हैं। डिफेंस और क्रिकेटीय शॉट के मामले में द्रविड़ का कोई सानी नहीं था। राहुल द्रविड़ हालांकि मुथैया मुरलीधरन की उन महान बल्लेबाजों की सूची में शामिल हैं, जो कभी पढ़ नहीं पाए।

मुंबई में एक कार्यक्रम में बोलते हुए श्रीलंकाई दिग्गज मुरलीधरन ने सचिन तेंदुलकर के सामने ही यह दावा कर दिया। उन्होंने कहा- जहां सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर सहित कई भारतीय बल्लेबाजों ने उनकी गेंदबाजी को पढ़ा, वहीं भारत के वर्तमान मुख्य कोच द्रविड़ असफल रहे। मुरलीधरन ने अपनी बायोपिक 800 के ट्रेलर लॉन्च के दौरान कहा- उन्होंने (सचिन तेंदुलकर) मुझे बहुत अच्छे से पढ़ा। बहुत से लोग ऐसा नहीं कर सकते। (ब्रायन) लारा को सफलता मिली, लेकिन उन्होंने मुझे कभी नहीं मारा।
उन्होंने आगे कहा- राहुल द्रविड़ खिलाड़ियों में से एक हैं, लेकिन उन्होंने मुझे कभी नहीं पढ़ा। सचिन, सहवाग और गंभीर पढ़ते थे। यहां तक कि मेरी टीम में भी कुछ लोग मुझे अच्छी तरह समझते थे। भारत के पूर्व कप्तान और सीनियर पुरुष क्रिकेट टीम के वर्तमान मुख्य कोच राहुल द्रविड़ सर्वकालिक महान बल्लेबाजों में से एक हैं। वह उन सात बल्लेबाजों में से एक हैं जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 24,000 से अधिक रन बनाए हैं। 50 वर्षीय द्रविड़ ने 16 साल तक भारत के लिए हाई लेवल पर खेला, दुनिया भर के कई महान गेंदबाजों का सामना किया और उन पर हावी रहे।

रक्षाबंधन के मौके पर अर्जुन तेंदुलकर के साथ बहन सारा का प्यार भरा रिश्ता

उनके खेलने के दौरान शेन वार्न, शोएब अख्तर, मुथैया मुरलीधरन, ग्लेन मैक्ग्रा और शॉन पोलक जैसे शीर्ष खिलाड़ी थे। द्रविड़ ने उनके खिलाफ ढेरों रन बनाए। द्रविड़ के करियर के चरम के दौरान श्रीलंका के पास एक मजबूत टीम थी। चमिंडा वास और मुरलीधरन जैसे खिलाड़ियों के बाद लसिथ मलिंगा के अजंता मेंडिस जैसे गेंदबाज टीम में रहे। भारत-श्रीलंका मैचों के दौरान मुरलीधरन भारतीय बल्लेबाजों के लिए एक बड़ा खतरा हुआ करते थे। 51 वर्षीय ने सभी प्रारूपों में 85 मैचों में भारत के खिलाफ 179 विकेट लिए हैं।
800 The Movie Trailer: मुथैया मुरलीधरन की बायोपिक 800 का ट्रेलर रिलीज, स्ट्रगल की कहानी देख सहम जाएगा दिल navbharat times -IND vs PAK: ईशान किशन ने बनाई शाहीन और हारिस रऊफ की रेल, तूफानी बैटिंग से पाकिस्तानी खेमे में मचाई खलबली navbharat times -India Squad For World Cup 2023: वनडे वर्ल्ड कप के लिए टीम का ऐलान, भारत को विश्व विजेता बनाएंगे ये 15 खिलाड़ी!



Source link