राजस्थान: मां के रिटायरमेंट को बेटे ने बनाया यादगार, हेलीकॉप्टर में घुमाया, चांद और मंगल ग्रह पर जमीन गिफ्ट की

0
115

राजस्थान: मां के रिटायरमेंट को बेटे ने बनाया यादगार, हेलीकॉप्टर में घुमाया, चांद और मंगल ग्रह पर जमीन गिफ्ट की

सीकर: हमारे देश में मां को ही पहला गुरू माना जाता है। मां के प्रति सम्मान व्यक्त करने का हर किसी का अलग तरीका होता है, लेकिन राजस्थान के सीकर (Rajasthan sikar) में एक महिला शिक्षक का उसके बेटे ने जिस तरह सम्मान किया, वो चर्चा का विषय बना हुआ है। बड़ी बात यह है कि गुरू पूर्णिमा के दिन महिला शिक्षक का रिटायरमेंट था, जिसे उनके बेटे ने यादगार बना दिया। मामला सीकर के लक्ष्मणगढ़ का है। यहां मां को गुरु पूर्णिमा और उनके रिटायरमेंट की खुशियों को बेटे ने सरप्राइजेज से भर दिया। बेटे ने सरप्राइज गिफ्ट देने का प्लान बनाया।


मां के रिटायरमेंट को यादगार बनाया
बिमला देवी लक्ष्मणगढ़ के घस्सू गांव में स्थित सरकारी स्कूल में पढ़ाती थीं। गुरु पूर्णिमा के दिन उनका सरकारी सेवा से रिटायरमेंट था। बिमला देवी के 29 वर्षीय बेटे अरविंद भास्कर ने मां के रिटायरमेंट को यादगार बनाने के लिए प्लान बना डाला। अरविंद ने आठ लाख रुपए खर्च करके दिल्ली से एक हेलीकॉप्टर मंगवाया, चूंकि अरविंद पायलट की ट्रेनिंग ले रहे हैं तो उन्हें इसकी सुरक्षा को लेकर काफी जानकारी है। उन्होंने गांव में स्थित अपने खेत में हेलीपैड तैयार करवाया।

पावर दिखानी है, मिल्खा सिंह नीरज चोपड़ा बनिए, वायरल स्पीच देने वाली ये BJP महिला नेता कौन? गुरु पूर्णिमा पर सीखिये इनसे बड़ा सबक

गांव वालों ने हेलीकॉप्टर के साथ ली सेल्फी
हेलीकॉप्टर के आने पर अरविंद ने मां-बाप, बड़ी बहन अमिता को हेलीकॉप्टर से जॉय राइडिंग करवाई। यही नहीं अरविंद ने मां को थार गाड़ी के साथ-साथ चांद और मंगल ग्रह पर प्लॉट भी गिफ्ट किया। प्लॉट खरीदने के लिए बिटक्वाइन और डॉलर में करीब 12 लाख रुपए का भुगतान किया।वहीं गांव में पहली बार हेलीकॉप्टर आने पर बड़ी संख्या में गांव वाले इकट्ठा हो गए। लोगों ने हेलीकॉप्टर के साथ खूब सेल्फी ली।

Copy

navbharat times -राजस्थान में मिला यूरेनियम का विशाल भंडार, सीकर में होना खनन… मिलेगा 3 हजार लोगों को रोजगार

बेटे ने पहली कमाई से मां के लिए खरीदी थी थार जीप
मिली जानकारी के अनुसार अरविंद के पिता सुल्तान सिंह 31 दिसंबर 2021 को शिक्षक पद से सेवानिवृत्त हो चुके हैं। उनकी पोस्टिंग दंतुजला गांव के सरकारी स्कूल में थी। अरविंद ने कहा, उन्होंने माता-पिता की रिटायरमेंट पार्टी एक साथ दी है। अरविंद ने बताया कि 2015 में उन्होंने इंजीनियरिंग पास की थी। इसके बाद पांच साल खुद की आईटी कंपनी चलाई। उस दौरान जो भी कमाई हुई थी, उसी से मां के लिए थार गाड़ी खरीदी है।

Viral Video: सीकर में ईद की सामूहिक नमाज के दौरान सांड का आतंक, वीडियो वायरल हुआ

राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News