राजस्थान के मंत्री राजेंद्र गुढ़ा फिर चर्चा में, CM पद को लेकर दे डाला चौंकाने वाला बयान

0
74

राजस्थान के मंत्री राजेंद्र गुढ़ा फिर चर्चा में, CM पद को लेकर दे डाला चौंकाने वाला बयान

जयपुर: बसपा के टिकट पर चुनाव जीतकर कांग्रेस में शामिल होने वाले राजेन्द्र सिंह गुढा अपने बयानों को लेकर हमेशा चर्चाओं में रहते हैं। राजस्थान की राजनीति में इन दिनों भावी मुख्यमंत्री को लेकर चर्चाएं हो रही है। इस बारे में जब सैनिक कल्याण राज्य मंत्री राजेन्द्र सिंह गुढ़ा से बात की गई तो उनके सुर बदले बदले नजर आए। पिछले दिनों प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में गुढ़ा ने कहा था कि हम कांग्रेस कल्चर के लोग नहीं हैं। हम तो चुनाव बसपा से लड़ते हैं और चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस में आ जाते हैं। कांग्रेस की विचारधारा हमारे समझ में ही नहीं आती है। गुरुवार 22 सितंबर को गुढा के तेवर ढीले नजर आए। वे बोले कि हमें कांग्रेस हाईकमान का फैसला मान्य है, हाईकमान जिसे भी राजस्थान का मुख्यमंत्री बनाए, वह हमें मंजूर है।

बसपा के टिकट पर चुनाव जीतकर दो बार कांग्रेस में शामिल हो चुके गुढा
राजेन्द्र सिंह गुढा उदयपुरवाटी विधानसभा से आते हैं। कांग्रेस उन्हें विधानसभा चुनाव का टिकट नहीं देती। चुनाव के समय गुढा बसपा में शामिल होते हैं। बहन मायावती की पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ते हैं और चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस में शामिल हो जाते हैं। ऐसा दो बार हो चुका। वर्ष 2008 से 2013 के कार्यकाल में जब अशोक गहलोत मुख्यमंत्री बने थे तब राजेन्द्र सिंह गुढा सहित सभी बसपा विधायक कांग्रेस में शामिल हो गए थे। इस बार 2018 के विधानसभा चुनाव में भी राजेन्द्र सिंह गुढा सहित 6 विधायकों ने बसपा के बेनर पर चुनाव जीता था। दो साल पहले ये सभी 6 विधायक कांग्रेस में शामिल हो गए। राजेन्द्र सिंह गुढा कह चुके हैं कि कांग्रेस तो हमें टिकट देती नहीं। इसीलिए हम बसपा का टिकट लाकर चुनाव लड़ते हैं। जीतने के बाद कांग्रेस में आ जाते हैं।

अब काफी सधा हुआ जवाब दे रहे हैं राजेन्द्र सिंह गुढा
अशोक गहलोत का नाम कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में फाइनल होने के तुरंत बाद राजेन्द्र गुढा के तेवर नरम पड़ गए। वैसे गुढा हमेशा आक्रामक अंदाज में सरकार और पार्टी पर तंज कसते हुए बयान देते रहते हैं। गुरुवार 22 सितंबर को उन्होंने मीडिया के सवालों का जवाब सधे हुए अंदाज में दिया। प्रदेश के भावी मुख्यमंत्री से जुड़ा सवाल पूछने पर गुढा ने कहा कि उन्हें हाईकमान का फैसला मंजूर है। गुढा ने यहां तक कह दिया कि हाईकमान अगर भरोसीलाल जाटव को भी मुख्यमंत्री बनाए तो भी हम 6 विधायकों का समर्थन रहेगा। गुढा उन्हीं 6 विधायकों के समर्थन की बात कह रहे हैं जो बसपा के टिकट पर चुनाव जीतकर कांग्रेस में आए हैं।

Copy

Rajasthan CM के तौर पर अशोक गहलोत की पसंद कौन?, सचिन पायलट कैसे देंगे मात, पढ़ें A टु Z डिटेल्स

अगली बार टिकट की आस, इसीलिए नरम पड़े राजेन्द्र सिंह गुढा
राजेन्द्र सिंह गुढा के तेवर ढीले पड़ने की वजह अशोक गहलोत हैं। चूंकि अब अशोक गहलोत कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने जा रहे हैं। कांग्रेस के तमाम बड़े फैसलों में गहलोत की मुख्य भूमिका रहेगी। आगामी विधानसभा चुनावों में टिकट की आस में राजेन्द्र सिंह गुढा के तेवर बदले हैं। वे जानते हैं कि टिकट वितरण अशोक गहलोत ही करेंगे। पूर्व में भी बसपा छोड़कर कांग्रेस में आने के बावजूद पार्टी ने विधानसभा चुनाव के समय टिकट नहीं दिया था। अगर अब भी तीखे तेवर रहेंगे तो हो सकता है अगले साल होने वाले चुनावों में भी पार्टी टिकट काट ले। ऐसे में राजेन्द्र सिंह गुढा अब सोच समझकर बयान देने लगे हैं। उनके साथ 5 अन्य विधायकों भी आस है कि 2023 में होने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस उन्हें टिकट दे।

कौन बनेगा राजस्थान का अगला CM, क्या सचिन पायलट के नाम पर सहमत होंगे गहलोत?

राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News