मौसम अपडेट: राजस्थान के इन 15 जिलों में भारी बारिश को लेकर बड़ी खबर

0
79

मौसम अपडेट: राजस्थान के इन 15 जिलों में भारी बारिश को लेकर बड़ी खबर

राजस्थान में लम्बे समय के विराम के बाद मानसून एक्सप्रेस ने विदा होने से पहले एक बार फिर रफ्तार पकड़ ली है। ऐसे में भादो में सावन की सी झड़ी लगी हुई है।

जयपुर। राजस्थान में लम्बे समय के विराम के बाद मानसून एक्सप्रेस ने विदा होने से पहले एक बार फिर रफ्तार पकड़ ली है। ऐसे में भादो में सावन की सी झड़ी लगी हुई है। मानसून अब अगस्त में रही बारिश की कमी सितंबर पूरा कर रहा है। रविवार को भी पूर्वी राजस्थान में अच्छी बारिश हो रही। वहीं राजधानी जयपुर में सुबह से रुक-रुक कर बारिश का दौर चल रहा है। इससे मौसम खुशनुमा बन गया है। आज सुबह जयपुर का तापमान 22 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड किया गया।

मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में नया दबाव क्षेत्र बनने से प्रदेश में मानसून की सक्रियता लगातार बढ़ रही है। इससे अच्छी बारिश होने के साथ तापमान में भी गिरावट आई है। मानसून के दूसरे दौर में बारिश होने से अन्नदाता भी खुश हैं, हालांकि अगेती फसल खराब होने की आशंका है। मौसम विभाग के मुताबिक बारिश का यह दौर आगामी दस दिनों तक जारी रहेगा, वहीं जयपुर में एक से दो दिनों में हल्की बारिश के साथ ही आकाशीय बिजली भी गिरने का अनुमान है।

यहां के लिए अलर्ट-
मौसम विभाग के अनुसार रविवार को सिरोही, राजसमंद, उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाड़ा जिलों में कहीं कहीं पर मेघगर्जन के साथ भारी बरसात का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। वहीं अलवर, भरतपुर, सवाई माधोपुर, बूंदी, कोटा, झालावाड़, अजमेर, भीलवाड़ा, प्रतापगढ़, चित्तौडगढ़ में कहीं कहीं मेघगर्जन के साथ भारी बरसात का यलो अलर्ट है।

सोमवार को भीलवाड़ा, चित्तौडगढ़, राजसमंद, उदयपुर, प्रतापगढ़, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, सिरोही में मेघगर्जन के साथ भारी बरसात का यलो अलर्ट दिया है। बीते 24 घंटों में चित्तौडग़ढ़, डूंगरपुर, भीलवाड़ा, अजमेर, झालावाड़, राजसमंद, सिरोही, प्रतापगढ़, बाड़मेर, नागौर व कोटा में कहीं-कहीं भारी से अति भारी वर्षा दर्ज की गई है।

यहां सबसे ज्यादा फसलों को नुकसान-
राजस्थान के 10 जिलों में औसत से कम बारिश हुई है। कई जगह तो फसल में 100 फीसदी तक खराबा हो गया है। राज्य सरकार की ओर से सूखा प्रभावित क्षेत्रों में नुकसान का आकलन करवाया गया। जिनमें 9 जिलों में करीब 14 लाख 76 हजार हैक्टेयर क्षेत्र में फसल बर्बाद हुई है। पाली, सिरोही, जोधपुर, बाड़मेर, जालोर, बीकानेर, जैसलमेर में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है।

बीसलपुर बांध में आया पानी-
जयपुर और अजमेर की पेयजल आपूर्ति की लाइफलाइन कहे जाने वाले बीसलपुर बांध से एक अच्छी खबर आई है। लंबे इंतजार के बाद यहां एक बार फिर से बांध में पानी की आवक शुरू हो गई है। रविवार सुबह बांध का जलस्तर 310.73 आरएल मीटर दर्ज किया गया।













राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News