मोबाइल खोलेगा मौत का राज, पिता ने कहा-पढ़ाई को लेकर थी टेंशन | mobile will open the secret of death | Patrika News

0
126

मोबाइल खोलेगा मौत का राज, पिता ने कहा-पढ़ाई को लेकर थी टेंशन | mobile will open the secret of death | Patrika News

ऑल इंडिया टॉपर में थी
सेकंड ईयर स्टूडेंट मारिया मथाई टॉपर थी। मेडिकल में एडमिशन के लिए नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट में उसकी ऑल इंडिया 600 रैंक के अंदर आई थी। इस वजह से उसे स्कॉलरशिप भी मिली थी। पिता ने बताया कि वह उसे दो माह से समझाइश भी दे रहे थे। मारिया के इस कदम से परिवार हैरान है।

किशोर ने लगाई फांसी
सूखी सेवानिया थाना इलाके में एक किशोर ने फांसी लगा ली। सूखी सेवानिया थाना पुलिस ने बताया कि सौरभ लोधी पुत्र खिलान ङ्क्षसह (18) शिवनगर फेस-2 में परिवार के साथ रहता था। बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले सौरभ 10 वीं की परीक्षा में फेल हो गया था, तब से वह दुखी था। शनिवार को वह बिना बताए घर से गायब हो गया तो परिजनों ने उसकी गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी। वहीं, रविवार को सुबह 9 बजे पुलिस को सूचना मिली कि थाना क्षेत्र में स्थित चौपड़ाकलां में निर्माणाधीन कॉलोनी सत्यम सिटी के एक मकान में किसी का शव फांसी के फंदे पर लटका हुआ है। फिलहाल अब तक परिजनों के बयान दर्ज नहीं हो पाए हैं।

महिला मित्र से मिलने पहुंचे युवक की तीन नाबालिगों ने गला रेतकर की हत्या
वल्लभ भवन के सामने स्थित भीम नगर बस्ती में रविवार देर रात एक युवक की गला रेतकर हत्या करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि युवक बस्ती में अपनी महिला मित्र से मिलने आया था। यह बात यहां के एक नाबालिग को नागवार गुजरी और उसने विवाद किया। विवाद के बाद युवक ने एक बच्चे को थप्पड़ मार दिया था, जिस पर गुस्साए तीन नाबालिगों ने उसका गला रेत दिया और जिससे युवक की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना के बाद पुलिस ने घेराबंदी कर तीनों आरोपियों को नादरा बस स्टैंड से हिरासत में लिया। आरोपी हत्या कर शहर से बाहर भागने वाले थे। पुलिस के अनुसार अभी आरोपियों को बाल संप्रेक्षण गृह में रखा गया है।

अरेरा हिल्स थाना प्रभारी आरके ङ्क्षसह के अनुसार विदिशा निवासी भूरे ङ्क्षसह पिता धारू ङ्क्षसह राठौर (32) एमपी नगर स्थित एक हॉस्टल में काम करता था । इसी हॉस्टल में भीम नगर निवासी सुनीता लोहवंशी भी काम करती है। साथ काम करने के कारण भूरे ङ्क्षसह और सुनीता में दोस्ती थी। रविवार रात भूरे ङ्क्षसह सुनीता के घर पहुंचा था। वहां रहने वाले एक नाबालिग किशोर को भूरे ङ्क्षसह का सुनीता के घर आना पसंद नहीं था।

Copy

रात करीब 11 बजे के आसपास नाबालिग ने अपने साथियों के साथ मिलकर भूरे ङ्क्षसह को सुनीता के घर न आने की धमकी दी। इस पर तीनों से भूरे ङ्क्षसह का विवाद हो गया। हमले में भूरे को सुनीता अस्पताल लेकर पहुंची, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने भूरे ङ्क्षसह का शव पीएम के लिए भेज दिया था। घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद पुलिस ने सुनीता से पूछताछ की। सुनीता के बयानों के आधार पर पुलिस टीम ने तीनों के घर दबिश दी, लेकिन तीनों फरार हो चुके थे। पुलिस ने अलग-अलग टीमें बनाकर चंद घंटों में ही तीनों आरोपियों को सोमवार सुबह करीब चार बजे नादरा बस स्टैंड से हिरासत में लिया।



उमध्यप्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Madhya Pradesh News