मीट के नाम पर मुस्लिमों की लिंचिंग, ATM ब्लैक लिस्ट… AIMIM UP चीफ का आरोप- दाढ़ी और टोपी को बना रहे निशाना

0
107

मीट के नाम पर मुस्लिमों की लिंचिंग, ATM ब्लैक लिस्ट… AIMIM UP चीफ का आरोप- दाढ़ी और टोपी को बना रहे निशाना

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की राजनीति में अपनी पकड़ बनाने की कोशिश कर रहे एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली का विवादास्पद बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि मीट के नाम पर मुसलमानों की लिंचिंग हो रही है। भारतीय जनता पार्टी पर भी उन्होंने करारा तंज कसा है। शौकत अली का बयान इस मायने में भी काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है कि हाल ही में हुए उप चुनाव में एक बार फिर मुस्लिम मतदाताओं का रुझान बंटता हुआ दिखा है। उनके बीच एक ऊहापोह जैसी स्थिति दिखी। रामपुर जैसे मुस्लिम बहुल विधानसभा क्षेत्र होने के बाद भी भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार आकाश सक्सेना ने यहां से जीत हासिल की है। वहीं, खतौली और मैनपुरी में मुस्लिम मतदाता सपा गठबंधन के साथ एक बार फिर जाते दिखे हैं। ऐसे में एआईएमआईएम अपनी स्थिति को प्रदेश में मजबूत बनाने की कोशिश करती दिख रही है। नगर निकाय चुनाव में पार्टी की ओर से उम्मीदवार उतारे जाने की तैयारी है। इसके लिए पार्टी अपने बयानों के जरिए वर्ग विशेष के बीच अपने आधार को मजबूत करने की कोशिश में है।

क्या दिया है पूरा बयान?

शौकत अली ने एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने मुसलमानों को लेकर विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा कि गोश्त के नाम पर मुसलमानों की लिंचिंग हो रही है। मुसलमानों के इलाकों में बैंकों के एटीएम को ब्लैक लिस्ट कर दिया जाता है। हमें पीने के लिए साफ पानी नहीं दिया जाता है। हमारे इलाकों में अच्छे स्कूल भी नहीं खोले जाते हैं।

शौकत अली ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनती है तो लिंचिंग अब्दुल की होती है। हमारी टोपी, हमारी दाढ़ी को निशाना बनाया जाता है।

हमें बी टीम बताने वाले कौन?

भाजपा पर हमला बोलते हुए शौकत अली ने कहा कि हमें भारतीय जनता पार्टी की बी टीम कहा जाता है। भाजपा की बी टीम जैसा बयान कोई दलित नहीं देता है। कोई हिंदू भाई नहीं देता है। ऐसे बयान वह मुसलमान भाई देते हैं जो समाजवादी पार्टी और कांग्रेस में चपरासी हैं। या फिर, बहुजन समाज पार्टी में दलाल हैं। शौकत अली लगातार इस प्रकार के बयान दे रहे हैं।

पहले भी दे चुके हैं विवादित बयान

शौकत अली पहले भी विवादित बयान दे चुके हैं। अक्टूबर में संभल के एक कार्यक्रम में उन्होंने अकबर और जोधाबाई को लेकर बयान दिया था। अपने भाषण में उन्होंने कहा था कि तुम हमें धमकी दे रहे हो। तुम जैसे कीड़े मकोड़े। 832 सालों तक हमने हुकूमत की है। तुम हमारे बादशाह के सामने अपने हाथ पीछे बांधकर जी हुजूर करते थे। हमने तुम्हारी बहन को मल्लिका ए हिंदुस्तान बनाया था। जोधाबाई कौन थी? हमने तो कभी भेदभाव तो नहीं किया न। हमसे बड़ा सेक्यूलर कौन है? अरे अकबर ने शादी की जोधाबाई से। जोधाबाई को मल्लिका ए हिंदुस्तान बनाया। इनको तकलीफ हो रही है। क्यों तकलीफ हो रही है भाई? सेक्यूलरिज्म के आलम बरदार तो हम हैं न।

नगर निकाय चुनाव पर है नजर


शौकत अली और एआईएमआईएम की नजर यूपी में होने वाले नगर निकाय चुनाव पर है। इन चुनावों के जरिए वे यूपी की राजनीति को साधने की कोशिश करते दिख रहे हैं। एआईएमआईएम की नजर यूपी के मुस्लिम वोट बैंक पर है। अब तक यह वोट बैंक समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस के पाले में रहा है। रामपुर विधानसभा उप चुनाव में एक बड़ा परिवर्तन होता दिखा है। पसमांदा समाज का वोट भाजपा की ओर जाता दिखा है। ऐसे में एआईएमआईएम विवादित बयानों के जरिए ध्रुवीकरण की कोशिश करती दिख रही है।

राजनीति की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – राजनीति
News