मतगणना में गड़बड़ी, प्रत्या​शियों को पुलिस का संरक्षण! | discrepancy in the counting of votes panchayat urban body elections | Patrika News

0
66

मतगणना में गड़बड़ी, प्रत्या​शियों को पुलिस का संरक्षण! | discrepancy in the counting of votes panchayat urban body elections | Patrika News

कर्मचारियों की चुनाव में संलिप्ता चुनाव में गड़बडी की आशंका को देखते हुए प्रत्याशी या उनके अभिकर्ताओं की तरफ से शिकायतें आ रही हैं। जिले मेें दोनों चरणों का पंचायत चुनाव हो चुका है। वहीं नगरीय निकाय का पहला चरण छह जुलाई को पूरा हुआ है। अभी 13 जुलाई को दूसरे दौर का मतदान होना है। ऐसे में शिकायतों की संख्या बढ़ना स्वाभाविक है। इन शिकायतों में मतदान, मतों की गणना, मतदाता सूची में नाम कटना, पर्ची नहीं मिलना, राजनीतिक दलों की आचार संहिता का उल्लंघन एवं सरकारी कर्मचारियों की चुनाव में संलिप्ता जैसी शिकायतें हैं।

54 शिकायतों का हुआ निराकरण

जिले में पंचायत व निकाय चुनाव को लेकर मिली शिकायतों के निराकरण की रफ्तार तेज नहीं है। बताया जाता है कि अब तक करीब 55 शिकायतों का निराकरण हो पाया है। बाकी में संबंधित क्षेत्र के रिटर्निंग अधिकारी की तरफ से प्रतिवेदन आना है। जब उनका प्रतिवेदन मिल जाता है तो जिला निर्वाचन अधिकारी अपने पत्र के माध्यम से राज्य निर्वाचन आयोग को शिकायत के निराकरण की जानकारी देते हैं।

लंबित शिकायतें

Copy

जनपद/निकाय- शिकायत संख्या

पनागर 11

अधारताल 14

सिहोरा 05

पाटन 07

कुंडम 06

शहपुरा 06

नोट: पुलिस से जुड़ी 3 शिकायतें लंबित हैं।

शिकायतों का प्रकार

– मतदान के दौरान मतदाताओं को पार्टी के झंडे दिखाए।

– एक-दूसरे की पार्टियों के लगे झंडों से की छेड़छाड़।

– पंचायत चुनाव में मतदान केंद्रों पर मतगणना से संतुष्टी नहीं।

– मतदाता सूची में नाम नहीं, बीएलओ से पर्ची भी नहीं मिली।

– प्रत्याशियों को पुलिस का मिला संरक्षण, वोटिंग पर असर।

patrika IMAGE CREDIT: patrika

मझौली में गणना से खूब असंतुष्ट

जिले में मझौली जनपद के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायतों में फिर से मतगणना के आवेदन सबसे ज्यादा हैं। ज्यादातर ग्राम पंचायतों में प्रत्याशियों के अलावा क्षेत्रीय नागरिकों ने इस पर आपत्ति की है। शिकायतों में यह बात सामने आई है कि पीठासीन अधिकारी के स्तर पर मतदान के बाद हुई मतों की गणना से उन्हें संतुष्टी नहीं है। इसलिए फिर से उनकी गिनती कराई जाए। अब शिकायतों का निराकरण किया जा रहा है।

छह कर्मचारी निलंबित

कुछ शिकायतों ऐसी भी जिसमें सरकारी कर्मचारी चुनाव प्रचार में संलग्न पाए गए तो कुछ ने अपने कर्तव्यों का निर्वहन नहीं किया। ऐसे करीब छह कर्मचारियों को कलेक्टर ने निलंबित किया है। शिक्षा विभाग की तरफ से भी कार्रवाई की गई हैं।

पंचायत और निकाय चुनाव को लेकर आवेदकों की जो भी शिकायतें मिली हैं, उनका निराकरण किया जा रहा है। मतगणना के पहले तक इस संबंध में कार्रवाई पूरी कर ली जाएगी।

नम: शिवाय अरजरिया, उप जिला निर्वाचन अधिकारी



उमध्यप्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Madhya Pradesh News