ब्लास्ट किसी ने तो किए होंगे ? राजस्थान ATS की जांच में लापरवाही पर पायलट भी हुए नाराज

7
ब्लास्ट किसी ने तो किए होंगे ? राजस्थान ATS की जांच में लापरवाही पर पायलट भी हुए नाराज

ब्लास्ट किसी ने तो किए होंगे ? राजस्थान ATS की जांच में लापरवाही पर पायलट भी हुए नाराज


Sachin pilot News : राजस्थान हाईकोर्ट की ओर से जयपुर सीरियल ब्लास्ट मामले में आरोपियों के बरी होने के मामले में सचिन पायलट ने भी नाराजगी जताई है। उनका कहना है कि राजस्थान सरकार इस मामले की नए सिरे से जांच करना चाहिए।

 

हाइलाइट्स

  • जयपुर सीरियल ब्लास्ट मामले में सचिन पायलट का बयान
  • कहा – किसी ने तो किए होंगे ब्लास्ट
  • सरकार को नए सिरे से जांच करवानी चाहि
जयपुर : 2008 में हुए जयपुर सीरियल ब्लास्ट मामले में राजस्थान हाईकोर्ट की ओर से चारों दोषियों को बरी करने के मामले में राजनीति तेज हो गई है। इस मामले में पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने भी प्रतिक्रिया दे दी है। पायलट ने दोषियों की रिहाई को दुख जताया है। उन्होंने कहा कि किसी ने तो ब्लास्ट किए ही होंगे । ऐसे में इस वीभत्स आतंकी घटना को अंजाम देने वालों की रिहाई अपने आप में दुखद है। गुरुवार को राइट टू हेल्थ को लेकर विरोध कर रहे डॉक्टरों से भी मुलाकात करने के बाद मीडिया के सामने उन्होंने यह रिएक्शन रखा। पायलट का कहना है कि राजस्थान सरकार इस मामले की नए सिरे से जांच कराएं। पायलट ने कहा कि जांच अधिकारियों की ओर से कोई कमी रह गई है तो उसे दूर किया जाना चाहिए। आतंकी घटना में 75 से ज्यादा बेगुनाह लोगों की जान गई है। पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए आतंकियों को सजा दिलाना बेहद जरूरी है।

हम रूलिंग पार्टी है इसलिए हमें सुलझाना समस्या

राइट टू हेल्थ बिल का विरोध कर रहे निजी अस्पतालों के डॉक्टरों ने सचिन पायलट से मुलाकात की। डॉक्टरों ने पाइलट के सामने अपना पूरा पक्ष रखा। इसके बाद पायलट ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि सरकार को आंदोलनकारी डॉक्टर्स की बात सुननी चाहिए। प्रदेशभर में लाखों मरीज परेशान हो रहे हैं। पायलट ने कहा कि हमारी सरकार जब केंद्र में थी तब भी हमने यूनिवर्सिल कानून बनाया था। अब हजारों लोगों को इलाज की जरुरत है, लेकिन इलाज नहीं मिल पा रहा, तो पीड़ा होती है। किसी भी पक्ष को अड़ियल रुखननहीं अपनाना चाहिए। सचिन पायलट ने कहा कि हम रूलिंग पार्टी है, इसलिए हमें आगे बढ़कर मामले को सुलझाना चाहिए क्योंकि हालात बद से बदतर होती जा रही है। खुले दिमाग से दोनों पक्षों को बातचीत करनी चाहिए चर्चा।

प्रतिशोध की भावना के साथ की गई राहुल गांधी के खिलाफ कार्रवाई

राहुल गांधी की सांसद सदस्यता रद्द किए जाने के बारे में सचिन पायलट ने कहा कि केंद्र सरकार ने प्रतिशोध की भावना के चलते यह कार्रवाई की। राहुल गांधी लगातार केंद्र सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद करते रहे हैं। साथ ही वे अदानी घोटाले को लेकर लगातार आवाज उठाते रहे हैं। इसी कारण षड्यंत्र के तहत उनकी सदस्यता रद्द कर दी गई।

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News