बिहार में मॉनसून का धोखा! किसानों के लिए सूखे की आहट, 86 फीसदी कम बरसात

0
58

बिहार में मॉनसून का धोखा! किसानों के लिए सूखे की आहट, 86 फीसदी कम बरसात

Bihar Weather : वैसे तो बिहार में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून जून के महीने में ही सक्रिय हो गया था। अच्छी बारिश भी हुई लेकिन जब खेती का समय आया तो मॉनसून ने धोखा दे दिया। इस महीने राज्य में मात्र 14 फीसदी बारिश हुई। अब तो पिछले 1-2 सप्‍ताह से अच्‍छी बारिश ही नहीं हुई। अब मौसम विभाग की मॉनसून को लेकर भविष्यवाणी डराने लगी है।

 

पटना : ‘किसान भाइयों के लिए विशेष सलाह’ इसी नाम से पटना मौसम विज्ञान केंद्र ने बिहार के किसानों के लिए प्रेस रिलीज जारी किया है। कायदे से तो इसका अनाउंसमेंट माइक लगाकर गांव-गांव करनी चाहिए थी। ताकि कृषि प्रधान इस देश और राज्य में किसानों को सही जानकारी मिल सके। पता नहीं बिहार के कितने किसानों तक मौसम विभाग का ये प्रेस रिलीज पहुंचा होगा। मौसम विभाग के मुताबिक राज्य में सूखे की आहट है। अगले 5-6 दिनों तक बारिश नहीं होगी। इसके बाद भी जो बरसात होगी, उससे किसान खेती नहीं कर सकते। सिर्फ मौसम में नमी आ जाएगी।

मॉनसून को लेकर क्या कहा गया?
पटना मौसम विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी संजय कुमार के दस्तखत से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि ‘मौसम की मौजूदा स्थिति के अनुसार राज्य के अधिकतर भागों में मॉनसून की गतिविधि फिलहाल कमजोर या नगण्य है। दिनांक 13 जुलाई तक राज्य में मॉनसूनी वर्षा अपने सामान्य स्तर से 38 प्रतिशत कम रही है। वहीं, जुलाई महीने में 13 तारीख तक मॉनसूनी वर्षा अपने सामान्य स्तर से 86 फीसदी कम हुई है।’

पूरे बिहार में सूखे की आहट?

मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक ‘संख्यात्मक मॉडल (Numerical Model) के अनुसार बंगाल की खाड़ी में हवा के कम दबाव का क्षेत्र 14 जुलाई के आसपास बनने का अनुमान है। जिसके कारण अगले सप्ताह के मध्य (बुधवार 19 जुलाई 2022) से राज्य के अधिकतर क्षेत्रों में हल्के से मध्यम दर्जे की वर्षा होने की संभावना है, जो कि अगले 3-4 दिनों तक जारी रहेगी। अत: किसानों को सलाह दी जाती है कि वे कृषि कार्य खासतौर से धान की रोपनी को इस पूर्वानुमान के अनुसार निर्धारित कर सकते हैं।’

Copy

गर्मी और उमस ने बढ़ाई परेशानी
IMD के ताजा पूर्वानुमान में अच्‍छी बारिश की संभावना न के बराबर है। कम से कम 19 जुलाई तक तो बिल्कुल नहीं है। मौसम विभाग का ताजा अपडेट किसानों के साथ आमलोगों के लिए भी शुभ नहीं है। जुलाई के महीने में खेतीबारी का काम होता है, लेकिन बरसात नहीं होने से किसानों को सूखे का डर सता रहा है। खेती के लिए ज्यादातर किसान मॉनसूनी बारिश पर निर्भर रहते हैं। धान की खेती में तो काफी पानी की जरूरत पड़ती है। मगर किसानों के लिए भारी मुसीबत है। वहीं, बारिश नहीं होने से पारा भी चढ़ रहा है। गर्मी और उमस ने भी परेशानी बढ़ा दी है।

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

Web Title : bihar monsoon signs of drought for farmers 86 percent less rain
Hindi News from Navbharat Times, TIL Network

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News