बंगाल टाइगर की बहार, सुंदरवन में 125 पार | Bengal Tiger crosses 125 number in Sundarbans | Patrika News

0
136

बंगाल टाइगर की बहार, सुंदरवन में 125 पार | Bengal Tiger crosses 125 number in Sundarbans | Patrika News

पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना जिलों के तटीय इलाकों में फैले सुंदरवन के मैंग्रोव जंगलों में रॉयल बंगाल टाइगर की बहार है। पिछले 4 साल में बाघों की संख्या में इजाफा हुआ है। सुंदरवन में रॉयल बंगाल टाइगर की संख्या फिलहाल 123 से 125 के बीच होने की संभावना है। 2018 में की गई पिछली गणना के अनुसार बाघ की संख्या 96 थी।

जयपुर

Published: November 13, 2022 09:16:44 pm

पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना जिलों के तटीय इलाकों में फैले सुंदरवन के मैंग्रोव जंगलों में रॉयल बंगाल टाइगर की बहार है। पिछले 4 साल में बाघों की संख्या में इजाफा हुआ है। सुंदरवन में रॉयल बंगाल टाइगर की संख्या फिलहाल 123 से 125 के बीच होने की संभावना है। 2018 में की गई पिछली गणना के अनुसार बाघ की संख्या 96 थी।
इस बीच राज्य सरकार ने बाघों की संख्या बढऩे के मद्देनजर मानव-पशु संघर्ष को रोकने के लिए कदम उठाने का फैसला किया है। सरकार जल्द अधिसूचित कोर क्षेत्र बढ़ाने पर विचार कर रही है। आने वाले दिनों में बाघों के लिए अतिरिक्त अधिसूचित कोर क्षेत्र हो सकते हैं। राज्य वन विभाग इस मामले में पहल कर रहा है।
कैमरा-ट्रैप के फुटेज का विश्लेषण
वन विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि हाल में हमने देश में नवीनतम बाघ गणना के लिए वन क्षेत्रों के विभिन्न हिस्सों में लगाए गए कैमरा-ट्रैप के फुटेज देहरादून स्थित भारतीय वन्यजीव संस्थान को भेजे हैं। वन विभाग ने अपने विशेषज्ञों के जरिए कैमरा-ट्रैप फुटेज के निष्कर्षों का विश्लेषण किया है। इससे पता चलता है कि सुंदरवन में रॉयल बंगाल टाइगर की संख्या बढ़ी है।
इस कारण जरूरी
वन विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि हाल में बाघों को उन स्थानों पर देखा गया है जहां उन्हें पहले नहीं देखा गया था। लिहाजा मानव-पशु संघर्ष को रोकने के लिए अधिसूचित कोर क्षेत्रों को बढ़ाने की आवश्यकता है। वन विभाग के सूत्रों के मुताबिक हाल के निष्कर्षो की पृष्ठभूमि में अतिरिक्त कोर क्षेत्रों को अधिसूचित करना जरूरी हो गया है।
आंकड़े अनुमान के अनुसार होंगे: मंत्री
राज्य के वन मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक ने कहा कि हम भारतीय वन्यजीव संस्थान से जल्द ही अंतिम रिपोर्ट की उम्मीद कर रहे हैं। मुझे यकीन है कि आंकड़े विभाग के अनुमान के अनुसार होंगे। भारत में बाघों की गणना चार साल के अंतराल पर की जाती है।

newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) रक्षा, राजनीति और सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। प्रिंट, टीवी और आनलाइन में रिपोर्टिंग। नवोदय विद्यालय से शिक्षा और हरियाणा से पत्रकारिता। रेलवे, सड़क एवं परिवहन, प्रशासन, शिक्षा, विज्ञान, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की।
2016 में रक्षा मंत्रालय के DCC के बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू की। इसके बाद लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017,राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 में परिवर्तन, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 की ग्राउंड रिपोर्टिंग की। लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब कवर किया। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। 2022 उत्तरप्रदेश चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया।

अगली खबर

right-arrow



राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News