पुतिन ने शिखर सम्मेलन में राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात की

0
725



News, समरकंद। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन पर चीन की संतुलित स्थिति के लिए राष्ट्रपति शी जिनपिंग को धन्यवाद दिया है।

बीबीसी ने बताया कि रूसी नेता ने उज्बेकिस्तान के समरकंद में एक शिखर सम्मेलन में अपने समकक्ष से मुलाकात की, जहां उन्होंने एकध्रुवीय दुनिया बनाने के प्रयासों की निंदा की। शी ने कहा कि चीन रूस के साथ महान शक्ति के रूप में काम करने को तैयार है। चीन ने रूस के आक्रमण का समर्थन नहीं किया है, लेकिन मॉस्को के साथ व्यापार और अन्य संबंधों में लगातार वृद्धि हुई है, जब से इसे लॉन्च किया गया था।

शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन से इतर दोनों नेताओं की बैठक यूक्रेन युद्ध के एक महत्वपूर्ण बिंदु पर हो रही है, जहां हाल के दिनों में रूसी सैनिकों ने देश के कुछ हिस्सों में अपनी जमीन खो दी है। फरवरी में अपनी आखिरी मुलाकात के दौरान, जब पुतिन ने शी के निमंत्रण पर शीतकालीन ओलंपिक के लिए बीजिंग की यात्रा की थी तब दोनों ने अपने करीबी संबंधों को प्रदर्शित करने की मांग की।

कुछ दिनों बाद, रूस ने यूक्रेन पर आक्रमण किया और मास्को के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय निंदा और प्रतिबंधों को प्रेरित करते हुए चीन-रूस संबंधों को एक गहन सुर्खियों में डाल दिया। बीजिंग ने तब से शत्रुता को समाप्त करने का आग्रह किया है और संप्रभुता के महत्व पर बल दिया है, लेकिन इसने युद्ध को रूस द्वारा आक्रमण कहने से भी लगातार इनकार किया है, जिसके नेता इसे विशेष सैन्य अभियान के रूप में संदर्भित करते हैं।

Copy

हाल के हफ्तों में चीन ने रूस के साथ संयुक्त सैन्य अभ्यास में भाग लेने के लिए सैनिकों को भेजा है और वरिष्ठ अधिकारियों को अपने करीबी संबंधों की पुष्टि करने के लिए रूसी समकक्षों से मिलने के लिए भेजा है। बीबीसी ने बताया कि पश्चिम द्वारा दंडात्मक प्रतिबंधों के समय में यह रूस की आर्थिक सहायता के लिए भी आया है। यह दोनों देशों के लिए फायदे का सौदा रहा है। यूरोप द्वारा रूसी तेल और गैस पर अपनी निर्भरता कम करने के साथ, चीन ने ऊर्जा उत्पादों की अपनी खरीद में वृद्धि की है, जो उसे कथित तौर पर रियायती दरों पर मिल रही है।

 

आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.